झारखंड

रांची पल्स हॉस्पिटल ने ED की करवाई के बीच 3.60 लाख के लिए युवक की डेड बॉडी देने से रोका, हंगामा

मृतक करण लोहरा पिठोरिया के राढ़ा गांव का निवासी था

News groupe Whatsapp

रांची: बरियातू थाना क्षेत्र अंतर्गत पल्स हॉस्पिटल में शनिवार को एक मरीज के शव को उसके परिजनों को देने के एवज में रुपये मांगने पर जमकर हंगामा हुआ। मृतक का नाम करण लोहरा बताया गया है। वह पिठोरिया के राढ़ा गांव का निवासी था।

युवक के परिजनों ने सड़क हादसे में घायल युवक की मौत के बाद अस्पताल प्रबंधन पर ज्यादा पैसे मांगने का आरोप लगाया है।

हंगामे की सूचना पर पहुंचे थाना प्रभारी ज्ञानरंजन ने अस्पताल प्रबंधन से बात कर परिजनों को शव दिलवाया। इसके बाद आक्रोशित परिजन शांत हुए।

जानकारी के अनुसार 30 अप्रैल को दुर्घटना के बाद एक युवक को पल्स हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था, जहां 6 मई की रात 9 बजे उसकी मौत हो गई।

प्रबंधन ने उसका शव देने से किया इंकार

इसके बाद हॉस्पिटल प्रबंधन ने परिजनों को तीन लाख 60 हजार रुपये का बिल थमा दिया और तत्काल जमा कराने को कहा।

परिजनों ने इतने पैसे देने में असमर्थता जताई तो प्रबंधन ने उसका शव देने से इंकार कर दिया।

इतना ही नहीं शनिवार को परिजनों को हॉस्पिटल से धक्का देकर बाहर निकाल दिया गया। इसके बाद परिजन और कुछ युवाओं ने हॉस्पिटल के बाहर हंगामा शुरू कर दिया।

परिजनों ने इस मामले में अधिकारियों से जांच की भी गुहार लगाई। इस दौरान वहां ड्यूटी में तैनात सिक्योरिटी गार्ड्स ने कुछ मीडियाकर्मियों के साथ भी बकझक की।

थाना प्रभारी ने बताया कि हॉस्पिटल की ओर से कहा जा रहा है कि तीन लाख 60 हजार का बिल हुआ है, जबकि सिर्फ 60 हजार रुपये दिया गया है।

मृतक के परिजनों का कहना है कि चार लाख का बिल दिया गया है, जिसमें तीन लाख हम लोग दे चुके हैं।

शव को पोस्टमार्टम के लिए रिम्स भेज दिया गया है। मामले की जांच की जा रही है।