लोकसभा चुनाव में सेंचुरी से चूक गई थी कांग्रेस, निर्दलीय सांसद ने पूरी की कमी..

Digital Desk

Congress Get 100 Lok Sabha Seats :  लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election) के परिणाम के दौरान कांग्रेस (Congress) कभी सेंचुरी पार कर रही थी, तो कभी सेंचुरी के नीचे आ रही थी। ऐसा लग रहा था कि वह सेंचुरी तक पहुंच जाएगी, लेकिन अंततः सेंचुरी से एक सीट कम रह गई।

अब कांग्रेस और उसके समर्थकों के लिए एक खुशखबरी सामने आई है कि महाराष्ट्र (Maharashtra) की सांगली सीट से जीते निर्दलीय प्रत्याशी विशाल पाटिल (Vishal Patil) ने कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे (Mallikarjun Kharge) से मिलकर अपना समर्थन उन्हें दे दिया है।

उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष को अपना समर्थन पत्र सौंपा है।

बता दें कि पाटिल पहले ही कांग्रेस के टिकट पर इस सीट पर चुनाव लड़ना चाहते थे। हालांकि सीट शेयरिंग में यह सीट उद्धव ठाकरे को मिल गई।

इसके बाद उन्हें निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर उतरना पड़ गया।

1 लाख से अधिक मतों से दर्ज की जीत

पाटिल ने सांगली सीट पर एक लाख से ज्यादा वोटों से जीत दर्ज की है। इस सीट पर BJP ने संजय काका पाटिल को फिर से टिकट दिया था। वह पहले से भी यहां से सांसद थे।

वहीं शिवसेना UBT ने चंद्रहार पाटिल को इस सीट पर टिकट दिया था।

बता दें कि लोकसभा चुनाव में कांग्रेस ने पिछले दो चुनावों के मुकाबले काफी अच्छा प्रदर्शन किया है। साल 2014 में कांग्रेस पार्टी 44 सीटों पर ही संतोष करना पड़ा था। वहीं 2019 में कांग्रेस को 52 सीटें मिली थीं।

इस तरह BJP को हुआ नुकसान

इस लोकसभा चुनाव में इंडिया गठबंधन को कुल 234 सीटों पर जीत मिली है। बीजेपी को 2019 के मुकाबिल 1.1 फीसदी वोट का नुकसान हुआ है।

2014 के मुकाबले बीजेपी का वोट शेयर बढ़ा है फिर भी सीटों का नुकसान हो गया। 2014 के मुकाबले इस बार बीजेपी को 42 सीट कम मिली है।

इंडिया गठबंधन में वोटों का बिखराव कम होने की वजह से बीजेपी को सीटों का नुकसान हुआ है। वहीं बीजेपी के कांग्रेस मुक्त भारत के सपने को भी करारा झटका लगा है।

महाराष्ट्र में टॉप पर रही कांग्रेस

महाराष्ट्र की बात करें तो इस बार NDA 17 सीटों पर ही सिमट गई। कांग्रेस, शिवसेना यूबीटी और एसीपी शरदचंद्र पवार ने मिलकर 30 सीटों पर कब्जा कर लिया।

यूपी के बाद महाराष्ट्र में बीजेपी को बड़ा  झटका लगा है।

BJP को 48 में से 9 सीटें, एकनाथ शिंदे की शिवसेना को 7 और अजित पवार की एनसीपी को केवल एक ही सीट मिली है।

कांग्रेस को 13, शिवसेना यूबीटी को 9 और एनसीपी शरद को 8 सीटों पर जीत हासिल हुई है।

हमें Follow करें!

x