वाइस एडमिरल संदीप नैथानी बने चीफ ऑफ मैटेरियल, संभाला कार्यभार

नई दिल्ली: नौसेना के वाइस एडमिरल संदीप नैथानी को नया चीफ ऑफ मैटेरियल बनाया गया है।

नैथानी ने 31 मई को सेवानिवृत्त हुए वाइस एडमिरल एसआर सरमा से मंगलवार को पदभार ग्रहण करके उन्हें कार्यमुक्त किया है।

अब जहाजों और पनडुब्बियों के लिए सिस्टम, नौसैनिक उपकरणों के स्वदेशीकरण, प्रमुख समुद्री और तकनीकी बुनियादी ढांचे के निर्माण से संबंधित मुद्दे उनके जिम्मे होंगे।

वाइस एडमिरल नैथानी राष्ट्रीय रक्षा अकादमी, खडकवासला, पुणे से स्नातक हैं। उन्हें 01 जनवरी, 1985 को भारतीय नौसेना की विद्युत शाखा में नियुक्त किया गया था।

वह आईआईटी दिल्ली से रडार और संचार इंजीनियरिंग में स्नातकोत्तर हैं और रक्षा सेवा स्टाफ कॉलेज (डीएसएससी) और राष्ट्रीय रक्षा कॉलेज (एनडीसी) के एक प्रतिष्ठित पूर्व छात्र हैं।

उन्होंने साढ़े तीन दशकों में अपने शानदार नौसैनिक करियर के दौरान कई चुनौतीपूर्ण जिम्मेदारियां संभाली हैं। उन्होंने विमान वाहक पोत ‘विराट’ के बोर्ड पर विभिन्न क्षमताओं में काम किया है।

उन्होंने मुंबई और विशाखापत्तनम में नौसेना डॉकयार्ड, नौसेना मुख्यालय के स्टाफ, कार्मिक और सामग्री शाखाओं में महत्वपूर्ण नियुक्तियां की हैं।

वाइस एडमिरल ने नौसेना के प्रमुख विद्युत प्रशिक्षण प्रतिष्ठान आईएनएस वलसुरा की भी कमान संभाली है।

विशिष्ट सेवाओं के सम्मान में एडमिरल को अति विशिष्ट सेवा पदक और विशिष्ट सेवा मॉडल से सम्मानित किया गया है।

भारतीय नौसेना में सबसे वरिष्ठ तकनीकी अधिकारी के रूप में वाइस एडमिरल नैथानी अब सभी इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रिकल, इलेक्ट्रॉनिक्स, हथियार, सेंसर और आईटी से संबंधित उपकरणों के रखरखाव प्रबंधन और जीवन-चक्र उत्पाद समर्थन से संबंधित सभी पहलुओं के प्रभारी होंगे।

इसके अलावा जहाजों और पनडुब्बियों के लिए सिस्टम, नौसैनिक उपकरणों के स्वदेशीकरण, प्रमुख समुद्री और तकनीकी बुनियादी ढांचे के निर्माण से संबंधित मुद्दे उनके जिम्मे होंगे।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button