पारा शिक्षकों को योग्यता के अनुसार मिलेगा वेतनमान, 61000 हजार को तीन कैटेगरी में बांटा गया

सरकार पारा शिक्षकों के प्रति गंभीर

रांची/गिरिडिह: एकीकृत पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा गिरिडिह का एक शिष्टमंडल विधायक सुदिव्य कुमार सोनू से मिला। ये मुलाक़ात विधायक के गिरिडिह स्थित आवास में हुई।

शिष्टमंडल ने 15 अगस्त को नियमावली लागू करने की बात कही। शिष्टमंडल जिला अध्यक्ष नारायण महतो और मनोज शर्मा के नेतृत्व में मिला और कई मुद्दों पर चर्चा भी हुई।

पारा शिक्षकों के स्थायीकरण एवं वेतनमान की मांग पर चर्चा की। कहा कि पारा शिक्षकों की स्थिति दिनों दिन दयनीय होती जा रही है।

विगत दिनों कई पारा शिक्षकों की मृत्यु हो गई किन्तु सरकार की ओर से किसी तरह का लाभ पारा शिक्षकों के परिजनों को नहीं दिया गया। इससे पारा शिक्षकों के परिवार भूखे मर रहें हैं।

विधायक ने समस्याओं से अवगत होकर कहा कि सरकार पारा शिक्षकों के प्रति गंभीर है।

उन्होंने कहा कि तमाम 61000 हजार पारा शिक्षकों को तीन कैटेगरी में योग्यता के अनुसार वेतनमान देने को लेकर काम चल रहा है। एक भी पारा शिक्षक को नहीं हटाया जायेगा।

उन्होंने ये आश्वस्त करते हुए कहा कि पारा शिक्षकों को वेतनमान मिलेगा। लेकिन 15 अगस्त तक नियमावली लागू हो जाएगी ये ज़रूरी नहीं।

विधायक ने कहा कि आने वाले एक से दो महीने में वेतनमान मिलेगा। पारा शिक्षकों ने CM हेमंत सोरेन से मुलाक़ात करने की बात कही।

विधायक ने मुख्यमंत्री से पारा शिक्षकों की मुलाक़ात को लेकर 5 अगस्त के बाद का वक़्त दिया है। ये जानकारी पारा शिक्षकों के शिष्टमंडल द्वारा दी गई गई है।

राज्य के पारा शिक्षकों को उम्मीद है कि बहुत जल्द एक बैठक मुख्यमंत्री के साथ होगी जिसमें सभी के कल्याण को लेकर चर्चा हो सकती है, जिसके बाद जल्द से जल्द नियमावली सरकार के तरफ से लागू कर दिया जायेगा।

शिष्टमंडल में बगोदर प्रखंड अध्यक्ष सुधीर प्रसाद, बिरनी से मनोज रविदास, गिरिडीह से मनोज शर्मा, बक्शी रमेश, राजकुमार, पिरटांड़ से रवि रंजन, देवेंद्र कुमार, मोहन महतो, लखन महतो, डुमरी से प्रेमचंद महतो शामिल हुए।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button