भारत

विदेश जाने वाले लोग ले सकेंगे बूस्टर डोज: मनसुख मंडाविया

भारत के नागरिक और छात्र जो विदेश जा रहे हैं, अब गंतव्य देश की गाइडलाइंस के हिसाब से एहतियाती डोज ले सकते हैं

नई दिल्ली:विदेश यात्रा करने वाले छात्र अब गंतव्य देश के दिशानिर्देशों के अनुसार आवश्यक एहतियाती खुराक (precautionary dose)ले सकते हैं।

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. मनुसख मंडाविया (Dr. Manuskh Mandaviya)ने ट्वीट करके कहा कि भारत के नागरिक और छात्र जो विदेश जा रहे हैं, अब गंतव्य देश की गाइडलाइंस के हिसाब से एहतियाती डोज ले सकते हैं।यह सुविधा जल्द ही कोविन पोर्टल पर मुहैया हो जाएगी।

जल्द ही कोविन पोर्टल पर मुहैया हो जाएगी सुविधा

बता दें कि टीकाकरण पर गठित कमेटी एनटीएजीआई (NTAGI) ने सिफारिश की है कि जिन लोगों के लिए विदेश यात्रा करना जरूरी है वह उसकी जरूरतों के अनुसार नौ महीने की प्रतीक्षा अवधि से पहले भी एहतियाती खुराक लगवा सकते हैं।

भारत में इस साल 10 जनवरी को हेल्थकेयर और अग्रिम मोर्चे के कर्मचारियों समेत 60 वर्ष से अधिक आयु के और गंभीर बीमार बीमारियों से पीड़ित लोगों के लिए कोरोना वायरस रोधी टीके की एहतियाती या बूस्टर खुराक लगाने की शुरुआत की गई थी।