पुलिस कर रही लापता तोते की तलाश, जानकारी देने वाले व्यक्ति को मिलेगा इनाम

उत्तर प्रदेश: उत्तर प्रदेश पुलिस ने 2014 में तत्कालीन मंत्री मोहम्मद आजम खान की लापता हुई भैंसों को खोजने के लिए रामपुर में तलाशी अभियान चलाया था।

इसके बाद 2016 में पुलिस ने आगरा में भाजपा नेता राम शंकर कटारिया के लैब्राडोर कुत्ते की खोज का काम भी किया।

अब उत्तर प्रदेश की पुलिस अलीगढ़ में एक अफ्रीकी तोते की तलाश में जुटी हुई है। यह तोता ग्रे कलर का है और इसकी पूंछ रेड कलर की है।

दरअसल, शहर के प्रसिद्ध ऑथोर्पेडिक सर्जन डॉ. एस.सी. वाष्र्णेय ने क्वार्सी पुलिस स्टेशन में अपने तोते के लापता होने की शिकायत दर्ज कराई थी।

सर्कल अधिकारी अनिल समानिया ने इस शिकायत की पुष्टि भी की है। पुलिस में शिकायत दर्ज कराने के अलावा तोते के मालिक ने तोते की तस्वीर और जानकारी के साथ उसके लापता होने के पर्चे भी छपवाकर बांटे हैं, जिसमें तोते की सभी खासियतों की पूरी लिस्ट बताई गई है।

इतना ही नहीं लापता तोते की जानकारी देने वाले व्यक्ति को 5,000 रुपये का इनाम देने की घोषणा भी की गई है।

मालिक के मुताबिक, मिट्ठू नाम का यह तोता अंग्रेजी बोल लेता है, नाम पुकार लेता है और सीटी भी बजा लेता है। यह तोता कागजी कार्रवाई होने के बाद इंग्लैंड के लिए फ्लाइट लेने वाला था।

वाष्र्णेय कहते हैं, मिट्ठू को मेरी बेटी सौम्या ने खरीदा था, जो अब अपने पति रजत के साथ लंदन में रहती है। दोनों सॉफ्टवेयर इंजीनियर हैं।

सौम्या को पक्षियों से बहुत प्यार है। करीब ढाई साल पहले जब वह बेंगलुरु में रहती थी, तब उसने यह अफ्रीकी तोता ऑनलाइन खरीदा था।

बाद में वह लंदन चली गई और अब तोते को वहां ले जाने के लिए कागजी कार्रवाई कर रही थी।

बताया गया है कि सौम्या और तोते के बीच इतना ज्यादा लगाव था कि वह उसे पिंजरे में नहीं रखती थी।

इस बीच, एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि एक पक्षी को ढूंढना लगभग असंभव है क्योंकि वह एक जगह नहीं रहता है।

फिर भी हम पक्षी बाजारों पर नजर रख रहे हैं ताकि यदि कोई उसे बेचने की कोशिश करे तो हम उसे पकड़ सकें।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button