पूर्वांचल बना सियासी कुरूक्षेत्र, अमित शाह सपा के गढ़ में, अखिलेश गोरखपुर में भरेंगे चुनावी हुंकार

आजमगढ़: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर एक बार पूर्वाचल फिर सियासी कुरूक्षेत्र बन गया है। गृहमंत्री अमित शाह आज सपा का गढ़ कहे जाने वाले आजमगढ़ में राजकीय कॉलेज का शिलान्यास करने के साथ ही जनसभा को भी संबोधित करेंगे।

इसके बाद अमित शाह बस्ती में आयोजित कार्यक्रम में भी हिस्सा लेंगे। शाह कार्यक्रम में सांसद खेल कुंभ का उद्घाटन करने के बाद खिलाडियों और खेल प्रेमियों को संबोधित करेंगे।

वहीं समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव की समाजवादी विजय यात्रा का तीसरा चरण पूर्वाचल में आयोजित होगा। अखिलेश 13 नवंबर को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गृहजनपद गोरखपुर से रथयात्रा निकालेंगे।

यह रथयात्रा गोरखपुर से कुशीनगर जाएगी। इसके जरिए अखिलेश यादव पूर्वाचल में अपनी पार्टी की तरफ जनता को आकर्षित करने की कोशिश करेंगे।

अखिलेश यादव ने 12 अक्टूबर को रथयात्रा कानपुर से शुरू की थी और बुंदेलखंड का दौरा किया था। इस बीच अखिलेश यादव पश्चिमी यूपी में भी अपना ध्यान केंद्रित किए हुए है। वहीं भारतीय जनता पार्टी 2022 में सत्ता दोहराने के लिए पूर्वाचल पर पूरा जोर लगा रही है।

यही कारण है कि प्रधानमंत्री मोदी भी पूर्वाचल के कई दौरे कर चुके है। वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी ताबड़तोड़ पूर्वाचल के जिलों में ही दौरे और कार्यक्रम किए है।

अब गृहमंत्री अमित शाह भी बाबा विश्वनाथ की नगरी में सत्ता में वापसी को लेकर चुनावी मंथन में डटे हैं। शाह के हालिया लखनऊ दौरे के बाद भाजपा ने सभी क्षेत्रों में मंडल प्रभारियों और संयोजकों की बैठकें की हैं।

यूपी विधानसभा चुनाव के चलते गृहमंत्री अमित शाह दो दिवसीय दौरे पर हैं। इसी कड़ी में अमित शाह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शनिवार को आजमगढ़ पहुंचेंगे। जहां राजकीय कॉलेज का शिलान्यास करेंगे।

इसके बाद अमित शाह जनसभा को संबोधित करेंगे। जनसभा को लेकर तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। गृहमंत्री अमित शाह आजमगढ़ में रैली को संबोधित करने के बाद बस्ती जाएंगे।

गृहमंत्री शुक्रवार देर शाम से वाराणसी में हैं। वहां पर शनिवार को श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शन-पूजन के बाद उन्होंने दो दिवसीय राजभाषा सम्मेलन का शुभारंभ किया।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button