रामगढ़ में वारंटियों को गिरफ्तार करने का आदेश

रामगढ़: जिले में संगठित अपराध के खिलाफ योजनाबद्ध तरीके से कार्रवाई होगी। इसके लिए वरीय अधिकारियों से लेकर थाना प्रभारियों तक को ज्यादा सतर्क रहने की आवश्यकता है। यह बात एसपी प्रभात कुमार ने शनिवार को अपराध समीक्षा बैठक के बाद कही।

उन्होंने कहा कि क्राइम मीटिंग में सबसे पहले लंबित मामलों को जल्द निष्पादित करने का निर्देश दिया गया। इसके अलावा वारंटियों को गिरफ्तार करने का आदेश भी दिया गया।

सबसे अहम बात यह है कि जिले में आपराधिक गतिविधियों पर अंकुश लगाना बेहद जरूरी है।

हाल के कुछ दिनों में कई आपराधिक वारदात हुए हैं। इसमें गाड़ियों से रुपये की लूट और रंगदारी जैसे मामले शामिल हैं।

ऐसे बदमाशों के खिलाफ सटीक कार्रवाई करने के लिए पुलिस पदाधिकारियों को भी सूझ-बूझ के साथ टीम वर्क में काम करना है।

Image

एसपी ने बताया कि साइबर क्राइम से जुड़े हुए कई मामले भी सामने आए हैं। उन पर अंकुश लगाने के लिए भी पुलिस की टीम काम कर रही है।

जिले में विधि व्यवस्था बनाए रखने के लिए सघन गश्ती करने की जरूरत भी है। इसके अलावा कोयला तस्करों पर अंकुश लगाने के लिए रात में गश्त को तेज करना है।

उन्होंने बताया कि रामगढ़ जिले में तीन नए पुलिस उपाधीक्षक की हाल ही में तैनाती हुई है।

लेकिन पतरातू क्षेत्र को एसडीपीओ वीरेंद्र चौधरी भली भांति जानते हैं, जिसका फायदा पुलिस पदाधिकारियों को मिलेगा।

रामगढ़ एसडीपीओ किशोर कुमार रजक भी इसी क्षेत्र में अपना प्रशिक्षण ले चुके हैं।

इस वजह से उनके लिए भी यह पूरा क्षेत्र जाना पहचाना है। डीएसपी हेड क्वार्टर के रूप में संजीव कुमार मिश्रा गोला और रजरप्पा क्षेत्र का लगातार दौरा कर रहे हैं।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button