कल्याण गुरुकुल खूंटी के 40 छात्रों को मिला प्लेसमेंट, बड़ी कम्पनियों में करेंगे नौकरी

रांची: खूंटी कल्याण गुरुकुल से 40 छात्रों को प्रशिक्षण के उपरांत सुरोज बिल्डकॉन में नौकरी लगी है। इसमें आईआईएफएल वेल्थ ने भी विशेष भूमिका निभाई है।

कल्याण गुरुकुल खूंटी में एक विशेष समारोह में सभी 40 छात्रों के बीच नियुक्ति पत्र का वितरण किया गया।

उक्त कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में आईआईएफएल वेल्थ के मुख्य कार्यपालक अधिकारी यतिन साहा ने छात्रों से बात करते हुए उनके उज्ज्वल भविष्य के लिए शुभकामनाएं दीं।

कल्याण गुरुकुल के छात्रों ने कार्यक्रम में विशेष रुचि दिखाते हुए यतिन साहा से स्वास्थ्य और धन संचय से जुड़े सवाल पूछे।

गुमला के रहने वाले सहदेव मांझी को सरकार के रोज़गार केंद्र से कल्याण गुरुकुल के संबंध में जानकारी मिली। प्रशिक्षण के बाद सहदेव का जीवन ही बदल गया।

सहदेव बताते हैं कि उनके पिता मज़दूरी करते हैं और उन्हें भी मजबूरी की वजह से मज़दूरी करनी पड़ती थी। आज वह अच्छी आय पर काम करने जा रहे हैं और परिवार को खुश रखेंगे।

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की सरकार झारखंड के युवाओं को रोजगार प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है। राज्य में हुनरमंद मानव संसाधन तैयार करने के लिए आवश्यक उपाय किये जा रहे हैं।

15,000 से ज्यादा युवाओं को मिल चुका है रोजगार

प्रज्ञा फाउंडेशन द्वारा संचालित कल्याण गुरुकुल खूंटी और जमशेदपुर के 238 छात्रों को आज नियुक्ति पत्र प्रदान किए गऐ । इनमें अनुसूचित जनजाति के 174, अनुसूचित जाति के सात, ओबीसी के 51 और अल्पसंख्यक वर्ग के 06 छात्र शामिल हैं ।

इन सभी छात्रों का प्लेसमेंट शापूरजी पालन जी, आटोमोटिव एक्सल और विलास जावेडकर जैसी नामी कंपनियों में हुआ है । इन सभी छात्रों ने कल्याण गुरुकुल में निर्माण और इलेक्ट्रीशियन ट्रेड में प्रशिक्षण प्राप्त किया है

।गौरतलब है कि कल्याण गुरुकुल में छात्रों को फिटर, वेल्डर, कारपेंटर, प्लंबर और अपैरल जैसे ट्रेड में प्रशिक्षण देने के साथ प्लेसमेंट की भी व्यवस्था की जाती है ।

फिलहाल, प्रज्ञा फाउंडेशन की ओर से राज्य में 09 कौशल विकास कॉलेज और 28 कल्याण गुरुकुल ट्रेनिंग सेंटर चलाए जा रहे हैं । यहां से अब तक 15 हजार से ज्यादा युवाओं को देश विदेश में रोजगार से जोड़ा गया है।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button