खेल

रायडू ने IPL से संन्यास लेने वाले TWEET को किया डिलीट

ट्वीट (TWEET) को डिलीट करने के बाद, प्रशंसकों को चौंका कर रख दिया, वह अपनी मूल संन्यास की घोषणा से पलट क्यों गए

मुंबई: चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) के बल्लेबाज अंबाती रायडू ने शनिवार को उस समय खलबली मचा दी, जब उन्होंने ट्वीट किया कि मौजूदा इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) 2022 टूर्नामेंट उनका आखिरी सीजन है।

लेकिन कुछ ही मिनटों के बाद रायुडू ने संन्यास लेने वाले ट्वीट को डिलीट कर दिया, जिससे सोशल मीडिया पर यूजर्स को चौंका दिया।

रायुडू ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से ट्वीट किया, मुझे यह घोषणा करते हुए खुशी हो रही है कि यह मेरा आखिरी आईपीएल होगा।

मैंने इसे खेलने और 13 साल तक 2 महान टीमों का हिस्सा बनने के लिए एक शानदार समय बिताया है। इस शानदार यात्रा के लिए मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स को धन्यवाद देना चाहता हूं।

उनके ट्वीट (TWEET) के जवाब में भारत के पूर्व ऑलराउंडर इरफान पठान(All-rounder Irfan Pathan) ने ट्वीट किया था, हमारे अंडर-19 दिनों से आपके साथ क्रिकेट खेला। हमेशा मैदान पर आपकी बल्लेबाजी और ऊर्जा की प्रशंसा की।

आपके आगे के सफर के लिए शुभकामनाएं भाई। आपने बहुत अच्छा प्रदर्शन किया है और आपकी उपलब्धि पर गर्व होना चाहिए।

लेकिन रायडू द्वारा ट्वीट (TWEET) को डिलीट करने के बाद, प्रशंसकों को चौंका कर रख दिया, वह अपनी मूल संन्यास की घोषणा से पलट क्यों गए।

रायडू IPL से संन्यास नहीं ले रहे –CEO कासी विश्वनाथन

आईपीएल मेगा नीलामी में चेन्नई द्वारा 6.2 करोड़ रुपये में वापस लाए जाने के बाद रायडू ने 12 मैचों में 27.10 के औसत और 124.31 के स्ट्राइक-रेट से 271 रन बनाए हैं, जो आईपीएल 2022 में टीम के लिए तीसरे सबसे अधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी बन गए हैं।

चेन्नई के CEO कासी विश्वनाथन ने एनडीटीवी से कहा कि रायडू IPL से संन्यास नहीं ले रहे हैं। वह थोड़ा निराश थे कि वह अच्छा नहीं कर पा रहे हैं।

इसलिए, उन्होंने गलती से वह ट्वीट कर दिया। मैंने उन्हें चीजें समझा दी हैं। वह संन्यास नहीं ले रहे हैं। वह हमारे साथ रहेंगे।

इससे पहले, पांच बार के IPL विजेता रायडू ने 2019 में खेल के सभी प्रारूपों से संन्यास की घोषणा की थी, जिसे क्रिकेट विश्व कप में भारत की 15 सदस्यीय टीम के लिए उन्हें अनदेखा किया गया था।

लेकिन उन्होंने जल्द ही यू-टर्न ले लिया और घरेलू क्षेत्र के साथ-साथ IPL में भी क्रिकेट खेलने के लिए लौट आए थे।