VIVO ने भारत में 1 महीने के अंदर लोगों के घरों में 1 लाख फोन की डिलीवरी की

नई दिल्ली: ग्लोबल स्मार्टफोन ब्रांड वीवो ने गुरुवार को घोषणा की कि उसने अपने अनूठे वीवो स्मार्ट रिटेल इनिशिएटिव (वीएसआर) के जरिए 10 मई से 10 जून के बीच अपने ग्राहकों के दरवाजे पर एक लाख स्मार्टफोन सफलतापूर्वक डिलीवर किए हैं।techonol

अपनी तरह का पहला क्लिक-टू-मोर्टार मॉडल ग्राहकों को अपने घरों में ही सुरक्षा और सुविधा के साथ वीवो उत्पादों और सेवाओं का अनुभव करने और खरीदने की अनुमति देता है।

कंपनी में ब्रांड रणनीति मामलों के निदेशक निपुण मार्या ने एक बयान में कहा, वर्ष 2020 व्यापार के लिए अत्यधिक तनाव और अनिश्चितता का समय था।

इसलिए, हमने अभूतपूर्व संकट के दौरान अपने भागीदारों को व्यापार निरंतरता प्रदान करने के लिए पिछले साल इस अद्वितीय लीड जनरेशन प्लेटफॉर्म को बनाने का फैसला किया।

मेनलाइन रिटेल के प्रति अपनी निरंतर प्रतिबद्धता को दोहराते हुए और एक चुस्त समाधान के माध्यम से व्यापार निरंतरता को सक्षम करते हुए, कंपनी ने पिछले साल वीवो स्मार्ट रिटेल इनिशिएटिव लॉन्च किया।

इस पहल, जिसने महामारी के बाद की दुनिया में खुदरा विक्रेताओं और उपभोक्ताओं के बीच की खाई को पाटने में मदद की, उसने खुदरा भागीदारों को व्यापार में (मूल्य के संदर्भ में) औसतन 10 प्रतिशत की वृद्धि के साथ लाभान्वित भी किया है।

कंपनी 7000 खुदरा विक्रेताओं और 6000 वीवो ब्रांड एंबेसडर (वीबीए) के समर्थन से इस ऐतिहासिक आंकड़े को हासिल करने में सफल रही।

अधिकारी ने बताया, वीवो स्मार्ट रिटेल एक सफल ग्राहक केंद्रित नवाचार रहा है और हम इस तरह की जबरदस्त प्रतिक्रिया को देखकर हमें खुशी है।

उन्होंने कहा, यह पहल हमारे खुदरा भागीदारों के लिए व्यापार निरंतरता प्रदान करते हुए हमारे उपभोक्ताओं की सुरक्षा और भलाई सुनिश्चित करने की हमारी प्रतिबद्धता का एक प्रमाण है।

सरकार की सभी वैधानिक आवश्यकताओं और नियमों का पालन करते हुए ब्रांड के विशाल खुदरा नेटवर्क का लाभ उठाकर देश भर में स्मार्टफोन की मांग को पूरा करने के लिए अभिनव मॉडल को पिछले साल लॉन्च किया गया था।

एक जिम्मेदार कॉपोर्रेट के रूप में, वीवो ने खुदरा विक्रेताओं को अपने व्यवसाय के पदचिह्न् को फिर से हासिल करने में मदद की और यह सुनिश्चित किया कि वे एक कुशल और सुव्यवस्थित तरीके से उपभोक्ता के मुद्दों का समाधान कर सकें।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button