सुपरमार्केट में इस शख्स ने महिला को लगा दिया स्पर्म से भरा इंजेक्शन, पूरी वारदात CCTV में हुई कैद

52 वर्षीय थॉमस ने अमेरिका के मैरीलैंड स्थित एक सुपरमार्केट में इस वारदात को अंजाम दिया था, कोर्ट ने सुनाई 10 साल की सजा

वॉशिंगटन: अमेरिका में एक सनकी व्यक्ति को बेहद अजीब अपराध के लिए सजा दी गई है। शख्स ने सुपरमार्केट में मौजूद एक महिला को स्पर्म से भरा इंजेक्शन लगा दिया था।

आरोपी की यह हरकत सीसीटीवी में कैद हो गई, जिसके आधार पर उसकी पहचान और गिरफ्तारी हो सकी।

कोर्ट ने इसे बेहद गंभीर अपराध करार देते हुए आरोपी शख्स को जेल भेज दिया है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, सनकी शख्स का नाम थॉमस ब्रायन स्टेमन है।

52 वर्षीय थॉमस ने अमेरिका के मैरीलैंड स्थित एक सुपरमार्केट में इस वारदात को अंजाम दिया था।

52 वर्षीय थॉमस ने अमेरिका के मैरीलैंड स्थित एक सुपरमार्केट में इस वारदात को अंजाम दिया था।

थॉमस ने सुपरमार्केट में मौजूद महिला को स्पर्म का इंजेक्शन लगा दिया था। वह अचानक महिला के पीछे पहुंचा और इंजेक्शन लगा दिया, सिरिंज चुभते ही महिला को दर्द हुआ और वह चीखने लगी।

मौके से फरार होने से पहले अपराधी ने महिला से पूछा कि यह मधुमक्खी के डंक जैसा लगता है। यह घटना फरवरी 2020 की है। सिरिंज अटैक की पूरी वारदात सीसीटीवी में कैद हो गई थी।

जिसके आधार पर पुलिस थॉमस ब्रायन स्टेमन तक पहुंच सकी। पुलिस को थॉमस की कार से स्पर्म वाले कई इंजेक्शन मिले थे। लिहाजा माना जा रहा है उसने कई और महिलाओं को भी शिकार बनाया होगा।

सुपरमार्केट में इस शख्स ने महिला को लगा दिया महिला को स्पर्म से भरा लगा दिया इंजेक्शन

पीड़ित महिला केटी पीटर्स ने बताया कि वह थॉमस की हरकत से हैरान थीं। केटी पाटर्स ने बताया उन्हें समझ नहीं आ रहा था कि थॉमस ने कौनसा इंजेक्शन लगाया है। वो एचआईवी या कोई दूसरी घातक बीमारी का भी हो सकता था।

उन्होंने कहा मैं बहुत घबरा गई थी। घटना के बाद मैं तुरंत अपने घर के लिए रवाना हो गई, जैसे-जैसे वक्त गुजरता जा रहा था, दर्द बढ़ रहा था। इससे मैं और भी ज्यादा टेंशन में आ गई। बाद में मुझे पता चला कि मैं स्पर्म अटैक का शिकार हुई हूं।

रिपोर्ट में बताया गया है कि थॉमस ब्रायन स्टेमन को पहले भी कई मामलों में अपराधी ठहराया जा चुका है।

फिलहाल अदालत ने उसे 10 साल के लिए जेल भेज दिया है। कोर्ट ने कहा कि आरोपी ने जो भी किया, वह गंभीर अपराध की श्रेणी में आता है।

गौरतलब है कि सीमन अटैक की कुछ घटनाएं पहले भी आमने आई हैं। अमेरिका और दक्षिण कोरिया में महिला पर स्पर्म अटैक के मामले दर्ज किए गए थे।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button