झारखंड में यहां टोल प्लाजा कर्मचारियों को 7 साल से नहीं मिला प्रमोशन, ना ही प्रबंधन रख रहा सुविधाओं का ख्याल ; आंदोलन की चेतावनी

न्यूज़ अरोमा रामगढ़: रामगढ़ रांची राष्ट्रीय राजमार्ग 33 पर चुटूपालू में बने टोल प्लाजा प्रबंधन के खिलाफ आजसू ने आंदोलन की चेतावनी दी है।

मंगलवार को गिरिडीह सांसद चंद्र प्रकाश चौधरी के नेतृत्व में टोल प्लाजा के कर्मचारियों की एक बैठक आयोजित की गई। इस बैठक में कर्मचारियों ने अपनी समस्याएं भी रखीं।

इस बैठक में कर्मचारी यूनियन के सभी सदस्य मौजूद थे। बैठक में टोल प्लाजा के कर्मचारियों ने कहा कि प्रबंधन उनका शोषण कर रहा है। पिछले 7 वर्षों से सभी कर्मचारी लगातार ईमानदारी और निष्ठा के साथ काम कर रहे हैं।

लेकिन ना तो कर्मचारियों को प्रमोशन का लाभ मिल रहा है और ना ही टोल प्रबंधन उनकी सुविधाओं का ख्याल रखता है।

लगातार पांच वर्षों तक जिन कर्मचारियों ने पीसी के पद पर काम किया था उन्हें पिछले 2 वर्षों से सुपरवाइजर का काम लिया जा रहा था। लेकिन उन कर्मचारियों का एक बार फिर डिमोशन कर दिया गया है।

कर्मचारियों ने टोल प्रबंधन पर वेतन कटौती का भी आरोप लगाया। कर्मचारियों ने कहा कि बेवजह प्रबंधन के द्वारा पूर्व से दी जा रही वेतन को मनमाने ढंग से घटाया जा रहा है।

विरोध करने पर हटाने की धमकी दी जा रही है। कर्मचारियों ने जानकारी देते हुए कहा कि जब से टोल प्रबंधन का कार्यभार मार्कोलिंस कंपनी ने ली है तब से लगातार यहां के सभी कर्मचारियों को विभिन्न तरीके से बेवजह तंग किया जा रहा है।

जिससे कि कर्मचारियों में काफी रोष है। कर्मचारियों की तरफ से अपनी बात रखते हुए वहां की स्थानीय मुखिया कलावती देवी ने कहा कि टोल प्रबंधन कुछ चुनिंदा लोगों के इशारे पर काम कर रही है। जिसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

टोल प्लाजा प्रबंधन कर्मचारियों के साथ करे वार्ता : चंद्र प्रकाश चौधरी

कर्मचारियों के समस्याओं से अवगत होने के उपरांत सांसद चंद्रप्रकाश चौधरी ने टोल प्लाजा प्रबंधन को बुलाया।

प्रबंधन की तरफ से टोल प्लाजा के असिस्टेंट प्लाजा मैनेजर रंजीत ठाकुर ने कहा कि कर्मचारियों की समस्या से टोल प्रबंधन के आला अधिकारियों को अवगत कराते हुए जल्द से जल्द वार्ता के लिए बुलाया जाएगा।

रंजीत ठाकुर ने सांसद को आश्वस्त करते हुए कहा कि कर्मचारियों की समस्या का निदान जल्द से जल्द कर लिया जाएगा।

सांसद ने टोल प्रबंधन को निर्देश देते हुए कहा है कि प्रबंधन की तरफ से कर्मचारियों को किसी प्रकार से तंग ना किया जाए।

जो जिस पद पर है यथा स्थिति बने रहने दिया जाए। उन्होंने यह भी कहा अन्य किसी प्रकार की समस्या उत्पन्न ना हो इसके लिए टोल प्रबंधन के आला अधिकारी जल्द से जल्द कर्मचारियों के साथ एक सफल वार्ता सुनिश्चित करे।

मौके पर श्रमिक यूनियन के डीके राय, दोहाकातू पंचायत मुखिया कलावती देवी, विभावि अध्यक्ष अभय पद्मराज, सचिव ब्रजेश महतो, रवि कुमार सिंह, शंकर मुंडा, मेराज अंसारी, खेम नाथ महतो आदि मौजूद थे।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button