बंगाल की खाड़ी में बन रहा भारी दबाव का क्षेत्र, कल चक्रवात में बदला तो…

Digital Desk

Weather Update : भारत मौसम विभाग (India Meteorological Department) की ओर से यह जानकारी दी जा रही है कि बंगाल की खाड़ी (Bay of Bengal) पर एक कम दबाव का क्षेत्र बन रहा है।

- Advertisement -

जिसके शुक्रवार तक चक्रवात (Cyclone) में बदलने की आशंका है।

इस वजह से ओडिशा (Odisha) के उत्तरी जिलों, उत्तरी तमिलनाडु और दक्षिणी आंध्र प्रदेश में मध्यम से भारी बारिश हो सकती है।

- Advertisement -

इसके अलावा, पश्चिम बंगाल (West Bengal), मिजोरम (Mizoram)और त्रिपुरा (Tripura) में भी बारिश होने की संभावना है। मौसम विभाग ने बुधवार को इस संबंध में जानकारी दी है।

70 KM प्रति घंटे की रफ्तार से चलेंगी हवाएं

मौसम विभाग ने कहा, दक्षिण बंगाल की खाड़ी के ऊपर 35-45 किलोमीटर प्रति घंटे से लेकर 55 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चल सकती है।

दक्षिण बंगाल की खाड़ी में यह धीरे-धीरे बढ़कर 40-50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से बढ़कर 60 किलोमीटर प्रति घंटे तक पहुंच जाएगी।

विभाग ने कहा, शुक्रवार की सुबह से 50-60 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से 70 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी।

ओडिशा के जिलों में मध्यम वर्षा का अनुमान

मौसम विभाग ने कहा, दक्षिण-पश्चिम बंगाल की खाड़ी के ऊपर चक्रवाती परिसंचरण के प्रभाव में उत्तरी तमिलनाडु और दक्षिणी आंध्र प्रदेश के तटों से दूर बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक कम दबाव का क्षेत्र बना है।

शुक्रवार से बालासोर जिले के अलग-अलग स्थानों पर भारी वर्षा (सात सेंटीमीटर से 11 सेंटीमीटर) और उत्तरी ओडिशा के जिलों में मध्यम वर्षा का अनुमान लगाया है।

मौसम विभाग ने मछुआरों (Fishermen) को गुरुवार और शुक्रवार को समुद्र में नहीं जाने की चेतावनी दी है क्योंकि समुद्र की स्थिति खराब से बहुत खराब होने की आशंका है।

- Advertisement -

मछुआरों को गुरुवार तक तट पर लौटने की सलाह दी गई है।

ओडिशा के विशेष राहत आयुक्त ने जिलाधिकारियों को सतर्क रखने और किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहने का अनुरोध किया।