क्या मोदी सरकार के इस कदम से बेरोजगार हो जायेंगी झारखंड की 80 हजार महिलाएं ? 14 नवंबर को राजभवन के पास इस कदम का किया जायेगा विरोध

अभी स्कूलों में बच्चों को जो गर्म और ताजा खाना परोसा जा रहा है, उसे केंद्र सरकार बंद करने की साजिश कर रही है

गोड्डा : झारखंड राज्य विद्यालय रसोइया संघ की गुरुवार को बैठक हुई। संघ की अध्यक्ष उर्मिला देवी की अध्यक्षता में सदर प्रखंड क्षेत्र के श्यामपुर गांव में हुई इस बैठक में 14 नवंबर को रांची स्थित राजभवन के समक्ष होनेवाले जनकन्वेंशन की तैयारी पर चर्चा हुई।

बैठक में पोषक क्षेत्र के विभिन्न स्कूलों हरिपुर गरबन्ना, चिलौना भद्राय, भेड़ा श्यामपुर, हरलाल टोला आदि जगहों की रसोइया ने भाग लिया। इसमें मुख्य रूप से तीन जिलों के प्रभारी प्रदेश कोषाध्यक्ष मनोज कुमार कुशवाहा ने भी शिरकत की।

कुशवाहा ने बताया कि बैठक में रसोइया बहनों को बताया गया कि केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ 14 नवंबर को रांची स्थित राजभवन के समक्ष एक दिवसीय जनकन्वेंशन का आयोजन किया जायेगा।

इसके लिए उनसे रांची चलने का आह्वान किया गया है। उन्होंने बताया कि इस जनकन्वेंशन के माध्यम से संघ अपनी मांगों से सरकार को अवगत करायेगा।

संघ की मांग है कि-

• प्रधानमंत्री पोषण योजना पर रोक लगायी जाये।
• सभी रसोइया का डेटाबेस बनाया जाये।
• संयोजिका और रसोइया को सरकारी कर्मचारी घोषित किया जाये।
• सभी रसोइया और संयोजिका को 21 हजार रुपये प्रतिमाह मानदेय दिया जाये।
• हटायी गयीं संयोजिकाओं को काम पर अविलंब वापस लिया जाये।
• रसोइया के बकाया मानदेय का भुगतान किया जाये।

कुशवाहा ने कहा कि अगर देश में प्रधानमंत्री पोषण योजना लागू हो जाती है, तो 80 हजार रसोइया बहनों को उनके काम से हटा दिया जायेगा। इस योजना के तहत स्कूलों में पका हुआ पैकेट बंद खाना दिया जायेगा।

अभी स्कूलों में बच्चों को जो गर्म और ताजा खाना परोसा जा रहा है, उसे केंद्र सरकार बंद करने की साजिश कर रही है। केंद्र सरकार के इस कदम को किसी भी हाल में बर्दाश्त नहीं किया जायेगा।

बैठक में रसोइया अमला देवी, कैली देवी, रीना देवी, मोसमात सरिता, उर्मिला देवी, रंभा देवी, बुनम देवी, टुभो देवी, उषा देवी, सुलोचना देवी, हेमलता देवी, ओवला मोसमात आदि मौजूद थीं।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button