झारखंड

परिचित ने ही आधार और पैन कार्ड की सहायता से निकाले ₹300000, इसके बाद….

Ranchi Aadhaar and PAN Card Fraud : आपकी जान-पहचान के लोग भी आपके साथ धोखाधड़ी कर सकते हैं, इसलिए अपने PAN card और आधार को बिल्कुल गुप्त रखें। जानकारी के अनुसार, रांची के चिरौंदी के रहने वाले संदीप कुमार चक्रवर्ती के आधार व पैन कार्ड की सहायता से परिचित ने उनके नाम पर करीब तीन लाख रुपए का लोन निकाल लिया।

यह जानकारी उन्हें तीन दिसंबर को तब हुई, जब उनके Mail  में Loan की निकासी किए जाने का मैसेज आया। इसके बाद संदीप ने गुरुवार को बरियातू थाने में परिचित बोकारो के चास निवासी सूरज कुमार के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करायी है।

आरोपी से पूछने पर उसने लोन लेने की बात से इनकार कर दिया। इसके बाद आरोपी ने उनका फोन उठाना भी बंद कर दिया। उन्होंने दावा किया है कि आरोपी ने फर्जी कागजात के जरिए उनके नाम पर लोन निकाला है।

पुलिस मामले की जांच में जुट गई

संदीप की ओर से दिए गए आवेदन में आरोप लगाया है कि आरोपी सूरज ने DMI Finance Private Limited को उनके कागजात दिए और खाता नंबर अपना दिया। दर्ज प्राथमिकी के आधार पर पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

संदीप ने पुलिस को बताया कि वह एक फार्मा कंपनी में Medical Representative के पद पर कार्यरत हैं। वहीं आरोपी की चास में एक कपड़े की दुकान है। आरोपी से उनका काफी अरसे से जान-पहचान है।

अक्सर उनके साथ बातचीत भी हुआ करती थी। एक दिसंबर को उनके मेल में DMI फाइनांस कंपनी की ओर से एक मैसेज भेजा गया कि उन्हें करीब तीन लाख रुपए का लोन दिया गया है, जबकि उन्होंने लोन के लिए कंपनी में किसी तरह का आवेदन भी नहीं दिया था।

मेल पर आए कागजात को डाउनलोड कर जांच की तो पता चला कि चास निवासी सूरज कुमार ने उनका आधार व पैन कार्ड के जरिए लोन लिया है। कंपनी की ओर से भेजे गए Welcome Letter में आरोपी का मोबाइल नंबर अंकित है।

Back to top button
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker