बांग्लादेश में रोहिंग्या शरणार्थियों के शिविर में आग, 1200 घर जले

ढाका : बांग्लादेश के कॉक्स बाजार में रोहिंग्या शरणार्थियों के शिविर में आग लगने के कारण 1200 घर जलकर राख हो गए।

दरअसल, 16 शरणार्थी शिविर के काटा इलाके में रविवार को अचानक आग लग गई थी। आग लगने का कारण पता नहीं चल पाया है। हालांकि इस घटना में कोई हताहत नहीं हुआ है।

एडिशनल सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस कामरान हुसैन ने बताया कि आग शाम को 4 बजकर 55 मिनट पर लगी और तेजी से फैल गई, जिसमें 1200 घर नष्ट हो गए।

रात 9 बजकर 10 मिनट तक आग को पूरी तरह से बुझा दिया गया।

अग्निशमनकर्ता इनामुल हुसैन ने बताया कि आग लगने की सूचना पर चार यूनिट को घटनास्थल पर भेजा गया।

स्थानीय निवासी सद्दाम हुसैन ने बताया कि उन्होंने आग में सैकड़ों घरों को जलते हुए देखा। इसे काबू करने में अग्निशमन सेवा और अन्य सरकारी एजेंसियों ने बहुत मेहनत की।

उल्लेखनीय है कि ऐसा पहली बार नहीं हुआ है जब रोहिंग्या कैंप में आग लगी हो। इन शिविरों में आग लगने की घटना आम हो गई है।

अधिकारियों ने बताया कि कई बार गैस सिलेंडर के कारण भी आग लगी है। पिछले साल मार्च में उखिया के बलुखली में चार कैंपों में लगी आग से 10 हजार घर नष्ट हो गए थे।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button