ICC आचार संहिता स्तर 1 के उल्लंघन के लिए हसन अली को लगी फटकार

ढाका: पाकिस्तान के तेज गेंदबाज हसन अली को शुक्रवार को ढाका में बांग्लादेश के खिलाफ पहले टी 20 मैच के दौरान आईसीसी आचार संहिता के स्तर 1 के उल्लंघन के लिए फटकार लगाई गई है।

हसन को आईसीसी आचार संहिता के अनुच्छेद 2.5 का उल्लंघन करते हुए पाया गया था, जिसमें खिलाड़ियों और सहयोगी स्टाफ के खिलाफ ‘अंतरराष्ट्रीय मैच के दौरान अमर्यादित भाषा या आक्रामक इशारों का उपयोग करना है, जो आउट होने वाले बल्लेबाज को आक्रामक प्रतिक्रिया के लिए भड़का सकता है।

आईसीसी के अनुसार, ‘‘ इसके अलावा, अली के अनुशासनात्मक रिकॉर्ड में एक डिमेरिट अंक जोड़ा गया है। यह 24 महीने की अवधि में उनका पहला उल्लंघन था।’’

यह घटना बांग्लादेश की पारी के 17वें ओवर में हुई, जब हसन ने बल्लेबाज नुरुल हसन को विकेट के पीछे कैच आउट करने के बाद उनके खिलाफ आक्रामक इशारों का प्रयोग किया था।

इस बीच, बांग्लादेश की टीम पर मैच में धीमी ओवर गति को बनाए रखने के लिए मैच फीस का 20 प्रतिशत जुर्माना लगाया गया है क्योंकि निर्धारित समय से टीम एक ओवर फेंक पाई थी।

आईसीसी ने एक बयान में कहा, “आईसीसी की आचार संहिता के अनुच्छेद 2.22 के मुताबिक, खिलाड़ी अगर धीमी ओवर गति के दोषी पाए जाते हैं तो उन पर मैच फीस का 10 फीसदी जुर्माना लगया जाता है जबकि उनके कप्तान पर दोगुना जुर्माना लगाया जाता है।”

हसन और बांग्लादेश के कप्तान महमुदुल्लाह ने अपराधों को स्वीकार कर लिया, इसलिए औपचारिक सुनवाई की कोई आवश्यकता नहीं पड़ी।

मैदानी अंपायर शरफदुल्ला इब्ने शाहिद और मसूदुर रहमान, तीसरे अंपायर गाजी सोहेल और चौथे अधिकारी तनवीर अहमद ने आरोप लगाए थे।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button