लाइफस्टाइल

शिवलिंग पूजन में इन चीजों का ना करें उपयोग, महादेव होंगे क्रोधित

Sawan Special : सावन महादेव का प्रिय महीना माना जाता है। शिवपुराण के अनुसार कुछ ऐसी चीजें भी हैं जिन्हें शिव जी की पूजा में वर्जित माना गया है।

ऐसी मान्यता है शिव जितनी जल्दी प्रसन्न होते हैं उतनी ही जल्दी क्रोधित भी हो जाते हैं। आइए जानते हैं सावन में शिवलिंग पर कौन सी चीजें अर्पित नहीं करना चाहिए।

शिवलिंग पूजन के लिए वर्जित हैं ये चीजें

केतकी

Do not use these things in Shivling worship, Mahadev will be angry

शिवलिंग पर केतकी के फूल अर्पित करने पर भगवान शिव नाराज हो जाते हैं। पौराणिक कथाओं के अनुसार केतकी के फूल ने ब्रह्मा जी का झूठ में साथ दिया था, इसलिए क्रोधित होकर भगवान शिव ने श्राप दे दिया था कि उनकी पूजा में कभी केतकी के फूल का उपयोग नहीं होगा।

शंख

Do not use these things in Shivling worship, Mahadev will be angry

शिव जी की पूजा में न शंख बजाया जाता है न ही शंख से उनका जलाभिषेक किया जाता है। पौराणिक कथा के अनुसार भगवान शंकर ने त्रिशुल शंखचूड़ नामक राक्षस का वध किया था। उसकी राख से शंख की उत्पन्न हुआ था।

तुलसी

Do not use these things in Shivling worship, Mahadev will be angry

सावन में भोलेभंडारी की पूजा में तुलसीदल का पत्ता भी नहीं चढ़ाया जाता। कथा के अनुसार भगवान शिव ने तुलसी के पति जालंधर का संहार किया था। तब से ही तुलसी ने खुद को भगवान शिव की पूजन सामग्री में शामिल न होने की बात कही थी।

कुमकुम या सिंदूर

Do not use these things in Shivling worship, Mahadev will be angry

भगवान भोलेनाथ तो वैरागी हैं, जो अपने पूरे शरीर पर राख लगाते हैं। कुमकुम और सिंदूर विवाहित महिलाएं लगाती है और पुराणों के अनुसार शिव विनाशक हैं। सावन में शिव जी की पूजा में कभी सिंदूर या कुमकुम को शामिल न करें।

हल्दी

Do not use these things in Shivling worship, Mahadev will be angry

भगवान शिव को छोड़कर लगभग सभी देवी-देवताओं की पूजा में हल्दी का इस्तेमाल किया जाता है। हल्दी को सौभग्य का प्रतीक माना जाता है और शिव तो वैरागी हैं। शास्त्रों के अनुसार शिव को हल्दी चढ़ाने से चंद्रमा कमजोर होता है।

Back to top button