बिहार

अग्निपथ योजना के खिलाफ भारी हिंसा के बीच पूर्व मध्य रेलवे ने 164 ट्रेनें रद्द की

आगजनी की खबरों के कारण 10 ट्रेनों को रद्द कर दिया गया। इस बीच, 12 ट्रेनों के समय में बदलाव किया गया है और एक ट्रेन का मार्ग बदल दिया गया

पटना: सश बलों में भर्ती के लिए लाई गई नई अग्निपथ योजना (Agneepath Scheme) के खिलाफ बिहार में भारी हिंसा के बाद पूर्व मध्य रेलवे (ECR) ने शुक्रवार को 164 ट्रेनों को रद्द कर दिया।

ईसीआर के एक बयान में कहा गया है कि इसने 64 ट्रेनों को उनके गंतव्य से पहले ही रोक दिया है, जबकि मार्गों पर आगजनी की खबरों के कारण 10 ट्रेनों को रद्द कर दिया गया। इस बीच, 12 ट्रेनों के समय में बदलाव किया गया है और एक ट्रेन का मार्ग बदल दिया गया है।

विरोध प्रदर्शन के चलते पटना जंक्शन समेत विभिन्न रेलवे स्टेशनों पर बड़ी संख्या में यात्री फंसे हुए दिखे। चूंकि रोडवेज बसों (Roadways buses) को भी आंदोलनकारियों ने निशाना बनाया है, इसलिए यात्रियों को बस टर्मिनलों पर भी इंतजार करते देखा गया।

यात्रियों को बस टर्मिनलों पर भी इंतजार करते देखा गया

दरभंगा में स्थिति तब और खराब हो सकती थी, जब युवाओं की भीड़ सड़क पार कर रही थी और उसी समय वहां से गुजर रही एक स्कूल बस को सड़क किनारे रुकना पड़ा। बस में सवार कुछ स्कूली बच्चे स्थिति देखकर रोने लगे।

चल रहे विरोध प्रदर्शन और शनिवार को बुलाए गए बिहार बंद (Bihar Bandh) के कारण पटना में राजपूत समुदाय का एक कार्यक्रम रद्द कर दिया गया है। प्रदेश में कई प्रकार के समारोह रद्द करने पड़ रहे हैं।

जद (यू) नेता ओम प्रकाश सेतु ने कहा, हमारे प्रतिनिधियों को बिहार में आना था। अग्निपथ के खिलाफ विरोध जारी है, इसलिए प्रतिनिधियों का पटना पहुंचना संभव नहीं है। इसलिए हमने कार्यक्रम को रद्द करने का फैसला किया है।