वित्‍त मंत्रालय ने वित्‍त वर्ष 2021-22 के बजट के लिए लोगों से मांगे सुझाव

नई दिल्‍ली: वित्‍त मंत्रालय ने वित्त वर्ष 2021-22 के आम बजट को प्रभावशाली और कल्याणकारी बनाने के लिए सभी स्टेकहोल्डर्स सहित आम लोगों से सुझाव मांगे हैं।

वित्‍त मंत्रालय ने शुक्रवार को ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है, जिसमें लोगों से बजट संबंधी आइडियाज, सुझाव और प्रपोजल भेजने का आग्रह किया है।

गौरतलब है कि वित्त मंत्रालय पिछले कई वर्षों से आम बजट तैयार करने के लिए नॉर्थ ब्लॉक में इंडस्ट्री, कॉमर्स एसोसिएशन, ट्रेड बॉडीज और एक्सपर्ट्स से सलाह-मशविरा करता रहा है।

लेकिन, इस बार कोविड-19 की वजह से वित्त मंत्रालय ने स्टेकहोल्डर्स, इंडस्ट्री और एक्सपर्ट्स से अलग फॉर्मेट में सुझाव मंगाए हैं। विभिन्न विभागों और संस्थानों से सुझाव मंगाने के लिए वित्त मंत्रालय ने डेडिकेटेड ई-मेल भी क्रिएट किया है।

वित्त मंत्रालय ने एक बयान जारी कर बताया कि इस संबंध में जल्द ही आधिकारिक घोषणा की जाएगी।

आम बजट बनाने के लिए मिलने वाले सुझाव को लोकतांत्रिक और पार्टिसिपेटरी बनाने के लिए सरकार ने MyGov प्लेटफॉर्म पर एक ऑनलाइन पोर्टल लॉन्च किया है, जो 15 नवम्‍बर को लाइव हो जाएगा। इस पोर्टल पर जाकर लोग वित्त मंत्रालय को अपने सुझाव 30 नवम्‍बर तक भेज पाएंगे।

कराना होगा रजिस्ट्रेशन

आम बजट 2021-22 के लिए वित्‍त मंत्रालय को सुझाव भेजने के लिए लोगों को पहले MyGov प्‍लेटफॉर्म के ऑनलाइन पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराना होगा।

लोगों के भेजे गए सुझावों और आइडियाज की जांच-पड़ताल वित्त मंत्रालय के साथ-साथ भारत सरकार के अन्य मंत्रालय और विभाग करेंगे।

यदि जरूरी होगा तो सुझाव भेजने वाले लोगों से ई-मेल और फोन के जरिए वित्‍त मंत्रालय संपर्क भी करेगा। इसके साथ ही जरूरी हुआ तो उनके सुझाव पर उनका स्पष्टीकरण मांगेगा और डिटेल में इसे लागू करने के लिए उनसे सलाह लेगा।

वित्त मंत्रालय को अपनी सलाह लोग 30 नवम्‍बर तक भेज सकेंगे, क्‍योंकि 30 नवम्‍बर के बाद ये ऑनलाइन पोर्टल बंद हो जाएगा।

Back to top button