देश में इस साल के सबसे ज्यादा कोविड के दैनिक मामले दर्ज

नई दिल्ली: देश में सोमवार को 86 दिनों के बाद कोविड-19 के सबसे ज्यादा मामले दर्ज हुए हैं। पिछले 24 घंटों में 26,291 मामले दर्ज हुए हैं, जो रविवार के आंकड़ों से 971 ज्यादा हैं।

वहीं इस दौरान 118 मौतें भी हुईं। हालांकि यह संख्या एक दिन पहले की मृत्यु संख्या से 43 कम रही।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा साझा किए गए आंकड़ों के मुताबिक, 15 मार्च सोमवार से पहले 18 दिसंबर को देश में 26,991 मामले दर्ज किए गए थे।

अब देश में मामलों की कुल संख्या 1,13,85,339 और मरने वालों की संख्या 1,58,725 तक पहुंच गई है।

इन नए मामलों में से 72 फीसदी मामले केवल 3 राज्यों के हैं। महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटों में सबसे ज्यादा 16,620 मामले दर्ज किए गए।

राज्य में इस साल दर्ज हुए दैनिक मामलों की यह सबसे बड़ी संख्या है। वहीं पंजाब में 1,501 और गुजरात में 810 नए मामले दर्ज किए गए।

देश में संक्रमण का स्तर दिसंबर महीने के स्तर पर वापस आ गया है। बहुत कम समय में ही इंफेक्शन की दर 1.55 प्रतिशत से बढ़कर 1.93 हो गई है।

बीते कुछ दिनों की स्थिति पर नजर डालें तो रविवार को देश में 25,320 नए मामले और 161 मौतें, शनिवार को 24,882 मामले और 140 मौतें, शुक्रवार को, 22,885 मामले और 117 मौतें, गुरुवार को 22,854 मामले और 126 मौतें और बुधवार को 17,921 मामले और 133 मौतें दर्ज की गईं थीं।

मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, देश में अब सक्रिय मामलों की संख्या बढ़कर 2,19,262 हो गई है, जो कि इससे एक दिन पहले के आंकड़ों से 9,000 ज्यादा है।

एक दिन में 17,455 लोगों के ठीक होने के बाद अब तक ठीक हुए लोगों की कुल संख्या 1,10,07,352 हो गई है।

वहीं रविवार को 7,03,772 नमूनों का परीक्षण होने के बाद अब तक जांचे गए नूमनों की संख्या 22,74,07,413 हो गई है।

पहले तो कोविड-19 मामलों की संख्या में बढ़ोतरी महाराष्ट्र और पंजाब तक सीमित थी, लेकिन अब दिल्ली, हरियाणा, गुजरात, राजस्थान, मध्य प्रदेश में भी मामले बढ़ रहे हैं।

दिल्ली में लगातार चौथे दिन रविवार को भी 400 का आंकड़ा पार करके 407 मामले दर्ज किए गए। हालातों को देखते हुए केंद्र सरकार ने उन राज्यों को भी सतर्कता बरतने के लिए कहा है, जहां अभी कोरोनावायरस को लेकर स्थिति नियंत्रण में है।

बता दें कि 16 जनवरी से शुरू हुए सामूहिक टीकाकरण अभियान के बाद से अब तक 2,99,08,038 कोरोना वैक्सीन डोज दिए जा चुके हैं।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button