झारखंड

प्रेम-प्रसंग में गुमला की नर्स ने पटना AIIMS में फांसी लगाकर की खुदकुशी, प्रेमी के खिलाफ लिखा सुसाइड नोट

रांची: झारखंड के गुमला जिले चेरो गांव की रहने वाली एक नर्स ने पटना AIIMS में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। उसके कमरे से एक सुसाइड नोट मिला है, जिसमें खुदकुशी का कारण अमित टोप्पो सन ऑफ शीतल टोप्पो पर लगाया है।

उषा रानी लकड़ा नामक यक 28 साल की नर्स वृंदावन कॉलोनी में किराए के मकान में रहती थी। घटना के बाद पुलिस मामले की तेजी से जांच में जुट गई है। वहीं मामले का पता चलने पर मृतका के गुमला (Gumla) स्थिति घर पर हड़कंप मच गया।

सुसाइड नोट में युवक का जिक्र

मृतक उषा रानी पिछले कुछ सालों से फुलवारी शरीफ के वृंदावन कॉलोनी में रह रही थी। सोमवार दोपहर फुलवारी शरीफ पुलिस को सूचना मिली कि उषा रानी लकड़ा पंखे से झूल कर आत्महत्या (suicide) कर ली है।

मौके पर पहुंची पुलिस ने मृतक का शव बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। कमरे से बरामद सुसाइड नोट में ‘सॉरी मां, सॉरी बाबा, मेरे मरने का कारण सिर्फ अमित टोप्पो है, सन ऑफ शीतल टोप्पो लिखा है।

झारखंड की है रहनेवाली

फुलवारी शरीफ थाना प्रभारी इकरार अहमद ने बताया कि उषा रानी लकड़ा मूल रूप से झारखंड के गुमला जिले की रहने वाली है। वह चेरो गांव की है।

उषा पटना एम्स (Patna AIIMS) में नर्स के रूप में कार्यरत थी। उन्होंने बताया कि छानबीन से यह पता चलता है कि उषा किसी अमित टोप्पो से प्यार करती थी।

उन्होंने आशंका जताई है कि संभव हो अमित से किसी बात को लेकर विवाद हो गया होगा। घटना के बाद वृंदावन कॉलोनी में अफरा तफरी का माहौल बन गया। फुलवारी शरीफ थाना प्रभारी ने बताया कि घटना की जानकारी उषा के पिता विलचूस लकड़ा को दे दी है।

बता दें कि प्रेम-प्रसंग (love affairs) में बिना इस तरह के आए दिन मामले देखने को मिल रहे हैं। ऐसे मामलों में बालिग से लेकर नाबालिग तक युवा शिकार बनते जा रहे हैं।