झारखंड

Jharkhand News : लोहरदगा में रामनवमी के मौके पर हिंसा और आगजनी, 10 वाहनों को फूंका, कैंप कर रही पुलिस

पुलिस प्रशासन द्वारा दोनों पक्षों को शांत कराने की दिशा में कार्रवाई की जा रही है

लोहरदगा: लोहरदगा के हिरही-हेंदलासो-कुजरा गांव की सीमा पर रामनवमी के मौके पर रविवार को लगने वाले मेले में हिंसा और आगजनी के बाद माहौल तनावपूर्ण हो गया।

जानकारी के अनुसार रामनवमी शोभा यात्रा में शामिल लोगों पर कुछ लोगों ने पथराव किया। इसके बाद में पहुंचकर करीब 10 मोटरसाइकिलों और एक पिकअप वैन में आग लगा दी।

घटना की जानकारी मिलते ही डीसी डॉक्टर वाघमारे प्रसाद कृष्ण, एसपी आर रामकुमार, एसडीपीओ बीएन सिंह, एसडीओ अरविंद कुमार लाल, मुख्यालय डीएसपी परमेश्वर प्रसाद, सदर थाना इंचार्ज मंटू कुमार सहित बड़ी संख्या में जिला प्रशासन के अधिकारी घटनास्थल पहुंचे।

फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है

जानकारी के अनुसार कुजरा की ओर से रामनवमी की शोभायात्रा आ रही थी। इसी बीच कब्रिस्तान के पास दूसरे समुदाय के कुछ लोगों द्वारा नारेबाजी नहीं करने की बात कही गई। इसी बीच कुछ लोगों द्वारा शोभायात्रा में शामिल लोगों पर पथराव किया गया।

इस घटना में कई लोग घायल हो गए, जिनमें शंकर भगत, मंटू राम, नागेश्वर पांडेय, भोला नाथ सिंह, आशीष कुमार सिंह, रितिक वर्मा, नीरज चौधरी, मोहन प्रसाद साहू शामिल है।

पथराव के बाद दो घरों में आग लगाने एवं मेला में पहुंचे ठेला, मिठाई दुकान एवं मेला में मौजूद एक पिक अप एवं 10 बाइक में आग लगा दिया गया। घटना के बाद पुलिस प्रशासन भोक्ता बगीचा में कैंप कर रही है।

पुलिस प्रशासन द्वारा दोनों पक्षों को शांत कराने की दिशा में कार्रवाई की जा रही है। इस संबंध में उपायुक्त डॉ वाघमारे प्रसाद कृष्ण से पूछने पर उन्होंने बताया कि अभी मैं घटनास्थल पर ही हूं, पूरे घटनाक्रम पर प्रशासन की नजर है। फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है।

घटना में दर्जन भर लोग घायल हो गए

रामनवमी शोभायात्रा जुलूस के दौरान हुई पत्थबाजी की घटना में घायलों ने बताया कि परंपरागत रूप से हेसल कुजरा एवं कुरसे सहित आस पास के गांव का शोभायात्रा जैसे ही साढे 5 बजे कब्रिस्तान पार कर आगे बढ़ने लगा।

इसी दौरान पत्थरबाजी की घटना हुई। घायलों ने बताया कि कुछ असमाजिक तत्वों द्वारा पत्थरबाजी के साथ साथ लाठी दंडे व धारदार हथियार से वार करना शुरू कर दिया।

इस घटना के बाद अफरा तफरी का माहौल हो गया। घटना में दर्जन भर लोग घायल हो गए।

कई लोगों को गंभीर चोटे आई है, जिन्हें बेहतर ईलाज के लिए रांची रिम्स रेफर कर दिया गया। इधर सदर अस्पताल में घायलों का ईलाज डीएस डॉ शंभूनाथ चौधरी द्वारा किया गया।