झारखंड

ड्रग्स के विरुद्ध अभियान चलाकर युवाओं को किया जाएगा जागरूक, सिटी SP और SDO ने…

रांची के City SP राजकुमार मेहता और सदर एसडीओ उत्कर्ष कुमार की अध्यक्षता में समाहरणालय सभागार में गुरुवार को मादक पदार्थों (Narcotics) के खिलाफ अभियान चलाने को लेकर एक अहम बैठक हुई।

Campaign Against Drugs : रांची के City SP राजकुमार मेहता और सदर एसडीओ उत्कर्ष कुमार की अध्यक्षता में समाहरणालय सभागार में गुरुवार को मादक पदार्थों (Narcotics) के खिलाफ अभियान चलाने को लेकर एक अहम बैठक हुई।

इस बैठक में रांची में Drug के विरुद्ध बड़ा कैंपेन चलाकर युवाओं को जागरूक करने के संबंध में रणनीति तैयार की गयी।

मौके पर सिटी SP राजकुमार मेहता ने कहा कि जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन को राज्य सरकार से रांची जिला को नशा मुक्त करने के लिए जो गाइड लाइन प्राप्त हुए हैं, उसके अनुसार रांची जिला को नशा मुक्त करने के लिए क्या-क्या रणनीति बनायी जा सकती है।

इसको लेकर संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया गया है। हमारी रणनीति के तहत रांची जिला के स्कूल, कॉलेज, बड़े शैक्षणिक संस्थान (सरकारी और निजी) के प्रिंसिपल को इस अभियान में जोड़ने का काम किया जाएगा।

इसमें CIP , रिम्स, स्वयं सहायता समूह, बुद्धिजीवी वर्ग, कई नुक्कड़ नाटक करने वालों को जोड़ा जाएगा और वृहद पॅमाने पर कैंपेन रांची में चलाया जायेगा।

सदर एसडीओ उत्कर्ष कुमार ने बैठक में कहा कि छात्र,छात्राओं और युवाओं में ड्रग्स एक बड़ा जंजाल है। जो युवा पीढ़ी को बर्बाद कर रहा है। यह युवाओं को इमोशनली, सोशली, इकोनॉमिकली कैंसर की तरह बर्बाद कर रहा है। इसको लेकर सभी स्टेक होल्डर को शामिल करते हुए एक बड़ा जागरूकता अभियान चलाया जाएगा, जिसमें नशा के दुष्प्रभाव के बारे में विशेषज्ञों की मदद ली जाएगी।

बैठक में DSP अमर कुमार पांडेय, DSP अरविन्द कुमार, डीएसपी प्रकाश सोय, जिला शिक्षा अधीक्षक मिथलेश कुमार, जिला शिक्षा पदाधिकारी विनय कुमार उपस्थित थे।

स्कूली बच्चों और कॉलेज छात्रों की जागरूकता के लिए ये बनी योजना

-रांची जिला में ड्रग्स के विरुद्ध बड़े कैंपेन चला कर छात्र-छात्राओं और युवाओं को जागरूक किया जाएगा।

-रांची जिला में ड्रग्स के विरुद्ध कैंपेन के लिए पुलिस उपाधीक्षक (कोतवाली) प्रकाश सोय को नोडल के रूप में नामित किया गया।

-एनसीबी से संपर्क कर रांची जिला के सभी थानों में इससे संबंधित वर्कशॉप किया जाएगा।

-इस अभियान में सभी सरकारी, गैर सरकारी स्कूल, कॉलेज, एनजीओ, बुद्धिजीवी वर्ग और नुक्कड़ नाटक दलों को जोड़ा जाएगा।

-केन्द्रीय मनोचिकित्सक संस्थान (CIP) रांची एवं राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण, स्कूलों और कॉलेजों के प्रधानाध्यापक, प्रिंसिपल इस अभियान में नोडल अधिकारी के रूप में रहेंगे।

-इस अभियान में बड़े पैमाने पर डिजिटल कैंपेन चलाया जाएगा। वीडियो,गाने,जिंगल,पोस्टर, पैम्पलेट सहित अन्य माध्यम से प्रचार-प्रसार किया जाएगा।

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker