माओवादियों के बंद में खूंटी में यात्री बसों का नहीं हुआ परिचालन

खूंटी: प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादी के एक करोड़ के इनामी कमांडर प्रशांत बोस और उसकी पत्नी शीला मरांडी सहित छह लोगों की गिरफ्तारी के विरोध नक्सलियों द्वारा आहूत बंद खूंटी जिले में असरहीन रहा।

सभी दुकानें, बैंक, पेट्रोल पंप, सरकारी कार्यालय कचहरी, स्कूल-कॉलेज आम दिनों की तरह खुले रहे। यात्री बसों का परिचालन पूरी तरह ठप रहा। हालांकि, छोटे यात्री वाहन, ट्रक और अन्य व्यावसायिक वाहनों का परिचालन सामान्य रहा।

यात्री बसों के नहीं चलने के कारण खूंटी-चाईबासा रोड, सिमडेगा रोड सहित अन्य सड़कों सन्नाटा पसरा रहा। जिले के तोरपा, कर्रा, मुरहू, रनिया सहित अन्य ग्रामीण इलाकों में भी बंद का कोई असर नहीं दिखा।

बंद को देखते हुए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम पुलिस प्रशासन द्वारा किये गये थे। जगह-जगह पुलिस बलों की तैनाती की गयी थी।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button