तार किशोर प्रसाद का जीवन परिचय, नीतीश के साथ ली मंत्री पद की शपथ

पटना: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के निष्ठावान कार्यकर्ता और भाजपा के छात्र संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (अभाविप) से वर्ष 1974 में जिला प्रमुख के रूप में सियासी सफर शुरू करने वाले तारकिशोर प्रसाद सिंह कटिहार सदर विधानसभा सीट से लगातार चौथी बार जीते है।

आज उन्होंने नीतीश कुमार के साथ मंत्री पद की शपथ ली और उनके उपमुख्यमंत्री बनने की प्रबल संभावना है।

ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय से 12वीं पास तारकिशोर प्रसाद बिहार विधानसभा में सत्तारूढ़ दल के सचेतक भी रहे हैं। राजनीति में अपनी पूर्ण सक्रियता रखने वाले प्रसाद सदा से पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के करीबी रहे हैं।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ पार्टी के कद्दावर नेताओं से भी उनके बेहतर संबंध रहे हैं।

पिछले कार्यकाल में उनके मंत्री बनने की प्रबल संभावना थी लेकिन ऐन मौके पर यह मौका जिले के प्राणपुर विधानसभा के पूर्व विधायक दिवंगत बिनोद कुमार सिंह को मिल गया था।

बाढ़ व कटाव की समस्या से अभिशप्त सीमांचल की उम्मीदें भी इसी के साथ बढ़ऩे लगी हैं। आज नीतीश कुमार के साथ उनके मंत्री पद की शपथ लेते ही कटिहार समेत पूरे सीमांचल में उम्मीद की नई किरण बिखर गई है।

खुद कटिहार जिले में अब तक बाढ़, कटाव के साथ विस्थापितों के पुनर्वास की समस्याएं मुंह बांए खड़ी हैं। कृषि आधारित उद्योग की मांग यहां दशकों से होती रही है। इन दोनों समस्याओं को लेकर खुद तारकिशोर प्रसाद भी सदन में आवाज उठाते रहे हैं।

जीवन परिचय-
इनका जन्म सहरसा जिले के सलखुआ बाजार में कलवार वैश्य परिवार में पांच जनवरी 1956 को हुआ। अपने व्यवसाय के क्रम में उनके पिता गंगा प्रसाद कटिहार नगर निगम क्षेत्र अवस्थित मिरचाईबाड़ी मोहल्ले में आकर बस गये। 1980 में रेणु प्रसाद के साथ वैवाहिक बंधन में बंधे तारकिशोर प्रसाद सिंह तीन पुत्र तथा एक पुत्री के पिता हैं।

Back to top button