झारखंड

धोनी की पाठशाला में गूंजेगा Twinkle Twinkle Little Stars, माइक्रोसॉफ्ट और माधुरी दीक्षित से मिलाया हाथ

महेंद्र सिंह धोनी और उनकी पत्नी साक्षी धोनी स्कूल से मेंटॉर हैं, जबकि इसके चेयरपर्सन आर चंद्रशेखर हैं

रांची: ट्विंकल-ट्विंकल लिटिल स्टार्स (Twinkle Twinkle Little Stars) के लिए क्रिकेट स्टार महेंद्र सिंह धौनी (Mahendra Singh Dhoni) की यह नई पहल है।

उन्होंने कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरू में बच्चों के लिए ग्लोबल स्कूल की शुरूआत की है।

इस world class school में आगामी एक जून से पहले सेशन की क्लासेज शुरू हो रही हैं। स्कूल का नाम है एमएस धोनी ग्लोबल स्कूल (MS Dhoni Global School)।

world class school

Microsoft, माधुरी दीक्षित से मिलाया हाथ

खास बात यह है कि इस स्कूल में बच्चों को बहुआयामी शिक्षा देने के लिए इस स्कूल ने माइक्रोसॉफ्ट और मशहूर नृत्यांगना एवं अभिनेत्री माधुरी दीक्षित की संस्था डांस विद माधुरी के साथ चैनल पार्टनर के तौर पर हाथ मिलाया है। शुरूआत में नर्सरी से लेकर क्लास एट्थ तक की पढ़ाई होगी।

पत्नी साक्षी धोनी स्कूल से मेंटॉर हैं

पत्नी साक्षी धोनी स्कूल से मेंटॉर हैं

बेगलुरू के एचएसआर साउथ एक्सटेंशन कुडलू गेट के पास खोले गये इस स्कूल की वेबसाइट में यहां दी जा रही तमाम सुविधाओं और पाठ्यक्रम के बारे में विस्तार से जानकारी दी गयी है। महेंद्र सिंह धोनी और उनकी पत्नी साक्षी धोनी स्कूल से मेंटॉर हैं, जबकि इसके चेयरपर्सन आर चंद्रशेखर हैं।

तमाम साधन-संसाधन उपलब्ध कराये गये

तमाम साधन-संसाधन उपलब्ध कराये गये

स्कूल का करिकुलम तीन भागों में बांटा गया है। ये हैं-डिस्कवर्स, एक्सप्लोर्स और इनोवेटर्स। नर्सरी से यूकेजी तक की पढ़ाई डिस्कवर्स करिकुलम के तहत होगी, जबकि क्लास One से Five एक्सप्लोर्स और क्लास 6 से एट 1 की पढ़ाई इनोवेटर्स करिकुलम तैयार किया गया है।

दावा किया गया है कि यहां ऐसे तमाम साधन-संसाधन उपलब्ध कराये गये हैं, जिनकी मदद से आज के दौर की जरूरतों के हिसाब से बच्चे को बहुमुखी विकास हो।

वेबसाइट में बताया गया है कि यह Microsoft का शोकेस स्कूल होगा। इसके अलावा यहां एमएस धोनी स्पोर्ट्स एकेडमी की इकाई भी स्थापित की गयी है।

महेंद्र सिंह धोनी ने रांची में ऑर्गेनिक फॉमिर्ंग

बता दें कि महेंद्र सिंह धोनी ने रांची में Organic Farming, Dairy के साथ-साथ कड़कनाथ मुर्गों के पालन का काम भी बड़े पैमाने पर शुरू किया है।

महेंद्र सिंह धोनी के प्रारंभिक कोच रहे चंचल भट्टाचार्य बताते हैं कि वह शुरू से इनोवेटिव किस्म के इंसान रहे हैं। उसकी कामयाबी का सूत्र यही है कि वह अपने हर काम को अपना हंड्रेड परसेंट देने की कोशिश करते हैं।