नीतीश कुमार ने सातवीं बार ली बिहार के मुख्यमंत्री पद की शपथ

पटना: नीतीश कुमार को राज्यपाल फागू चौहान ने सोमवार को शाम साढ़े चार बजे राजभवन में आयोजित समारोह में मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई। नीतीश ने सातवीं बार बिहार के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली है। उनके साथ दो उप मुख्यमंत्रियों ने भी पद और गोपनीयता की शपथ ली है।

Image

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ जदयू के पांच तथा भाजपा के सात मंत्रियों को भी राज्यपाल ने शपथ दिलायी । इस तरह नीतीश कुमार के मंत्रिमंडल में मुख्यमंत्री और दो उप मुख्यमंत्रियों समेत कुल 15 मंत्रियों को शपथ दिलाई गई है, जिनमें एनडीए के दो अन्य घटक दलों जीतनराम मांझी की पार्टी हिन्दुस्तानी अवाम मोर्चा से विधान पार्षद संतोष कुमार सुमन और विकासशील इंसान पार्टी के प्रमुख मुकेश सहनी को भी मंत्री बनाया गया है।

Image

बिहार में यह पहला मौका है, जब किसी मुख्यमंत्री के साथ दो-दो उप मुख्यमंत्री बनाए गए हैं। यह भी पहली बार हुआ है कि बिहार में किसी महिला को उप मुख्यमंत्री पद का दायित्व सौंपा गया है।

जदयू से जिन पांच मंत्रियों को शपथ दिलाई गई है, उनमें जदयू के वरिष्ठ नेता और बिहार विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी, बिजेंद्र प्रसाद यादव, डॉ. अशोक चौधरी, मेवालाल चौधरी और शीला कुमारी शामिल हैं।

Image

भाजपा की ओर से दो उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद और रेनू देवी के अलावा मंगल पाण्डेय, अमरेन्द्र प्रताप सिंह, राजनगर विधानसभा सभा सीट से विजयी हुए रामप्रीत पासवान, जाले विधानसभा सीट से जीत दर्ज करने वाले जीवेश मिश्र और औराई विधानसभा सीट से जीत हासिल करने वाले रामसूरत राय शामिल हैं।

ज्ञातव्य है कि फिलहाल किसी भी मंत्री को विभाग का आवंटन नहीं किया गया है। सूत्र बताते हैं कि इन सभी नव नियुक्त मंत्रियों के विभागों का बंटवारा तुरंत कर दिया जाएगा। उल्लेखनीय है कि संतोष कुमार सुमन हम प्रमुख व पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी के पुत्र हैं, जो फिलहाल विधान परिषद् के सदस्य हैं।

उधर वीआईपी प्रमुख मुकेश सहनी अभी किसी भी सदन के सदस्य नहीं हैं। वह सिमरी बख्तियारपुर से बिहार विधानसभा का चुनाव हार चुके हैं। ऐसे में मुकेश सहनी को अगले छह महीनों में बिहार विधानमंडल के किसी भी सदन का सदस्य बनना जरूरी है।

शपथ ग्रहण समारोह में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा , केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह, केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय भी उपस्थित थे। समारोह से राजद और कांग्रेस के नेता नदारद थे ।

Back to top button