अन्ना हजारे की एंजियोग्राफी हुई, हालत स्थिर

पुणे: गांधीवादी और सामाजिक कार्यकर्ता किसान बाबूराव उर्फ अन्ना हजारे को गुरुवार सुबह यहां एक अस्पताल ले जाया गया, जहां उनकी एंजियोग्राफी की गई। उनकी हालत स्थिर बताई जा रही है।

चिकित्सा अधीक्षक डॉ. अवधूत बोमडवाड ने कहा कि पिछले 2-3 दिनों से सीने में हल्के दर्द के बाद हजारे को यहां रूबी हॉल क्लिनिक में भर्ती कराया गया।

अस्पताल ने कहा कि विशेषज्ञों की एक टीम ने उनकी पूरी जांच की और ईसीजी टेस्ट भी हुआ। पता चला कि उनके हृदय में रक्त-संचार में मामूली रुकावट आई।

हृदय विशेषज्ञों की एक टीम ने हजारे की एंजियोग्राफी की। टीम में मुख्य हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. पी.के. ग्रांट और डॉ. सी.एन. मखले शामिल थे।

अस्पताल के मैनेजिंग ट्रस्टी डॉ. ग्रांट ने कहा, एंजियोग्राम से अन्ना की कोरोनरी धमनी में मामूली रुकावट का पता चला। रुकावट दूर करने की प्रक्रिया सफलतापूर्वक की गई। उन्हें चिकित्सा उपचार की उचित लाइन मिल रही है।

अन्ना के अस्वस्थ होने की जानकारी मिलने पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने उनकी स्वास्थ्य स्थिति की जानकारी ली और कहा, मैं उनके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं।

डॉ. ग्रांट ने कहा कि हजारे की हालत अभी स्थिर है और उन्हें कुछ दिनों में छुट्टी मिलने की संभावना है।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button