नहीं चुका सका बैंक का लोन, तो श्मशान घाट में फांसी लगाकर दे दी जान

News Aroma Desk

Ramgarh Suicide: कोरोनाकाल के बाद भी आम नागरिक का जीवन पटरी पर आना अभी भी मुश्किल नजर आ रहा है। जिस तरह आम जनजीवन (Common Life) लगातार कठिन होता जा रहा है उससे लोग आत्महत्या करने पर विवश हो रहे हैं।

ऐसा ही एक मामला रामगढ़ के पतरातू (Patratu) से सामने आया यहां। रविवार को अधेड़ ने श्मशान घाट के शेड में ही फांसी लगाकर अपनी जान दे दी।

NTPC न्यूटाउनशिप के निकट कालीघाट स्थित श्मशान घाट के शेड में फंदे से झूलती हुई लाश देखकर लोग चौक गए। मृतक विश्वजीत राम उर्फ कारु राम (50) PTPS कॉलोनी के हनुमानगढ़ी का रहने वाले थे। PTPS के रांची हेडक्वार्टर में बतौर सफाई कर्मी कार्यरत थे।

जब लोगों ने वजह जानने की कोशिश की तो पता चला कि वह बैंक का लोन नहीं चुका पा रहे थे।

इस मामले की पुष्टि करते हुए पतरातू SDPO वीरेंद्र कुमार राम ने बताया कि आम नागरिक और परिवार वाले भी इसी बात को बता रहे हैं कि क़र्ज़ नहीं चुका पाने की वजह से विश्वजीत लगातार तनाव में थे।

घर में भी इसी बात को लेकर अक्सर विवाद हो रहा था। पुलिस को जैसे ही इस घटना की जानकारी मिली घटनास्थल पर पहुंचकर शव को कब्जे में लिया गया।

पुलिस ने शव को Post mortem के लिए सदर अस्पताल रामगढ़ भेज दिया है। समाचार लिखे जाने तक मृतक के परिजनों ने थाने में लिखित आवेदन नहीं दिया है। जब वे लिखित आवेदन देंगे, उस आधार पर पुलिस आगे की कार्रवाई करेगी।

हमें Follow करें!

x