झारखंड

झारखंड में चुनी हुई सरकार को अस्थिर करने की कोशिश: अविनाश पांडेय

उन्हें समझ नहीं आ रहा कि उन्होंने ऐसा कौन सा अपराध किया था

रांची/दिल्ली: आचार संहिता उल्लंघन का मामला दर्ज कराए जाने पर कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी अविनाश पाण्डेय ने बुधवार को कहा कि वे खुद लॉ के छात्र रहे हैं। उन्हें समझ नहीं आ रहा कि उन्होंने ऐसा कौन सा अपराध किया था।

पत्रकारों से बातचीत में पाण्डेय ने कहा कि आज जिस प्रकार धन-बल के जरिए देश और झारखंड में चुनी हुई सरकारों को अस्थिर करने की कोशिश की जा रही है, वह लोकतंत्र के लिए काफी हानिकारक है।

उन्होंने कहा कि पंचायत प्रतिनिधि सम्मेलन पर जो बयान दिया था, उस पर आचार संहिता उल्लंघन का मामला दर्ज किया गया है।

साथ ही कहा कि उनकी नजर में संविधान सर्वोपरि है। ऐसे में कानून के तहत जो भी सजा होगी, वह भुगतने को तैयार है।

इस  बार कांग्रेस को यह मौका मिलना चाहिए

राज्यसभा चुनाव में पार्टी की दावेदारी के सवाल पर उन्होंने कहा कि झारखंड में गठबंधन सरकार है। राज्यसभा चुनाव की तिथि घोषणा के साथ ही गठबंधन के सहयोगी आपस में बातचीत कर उम्मीदवार को लेकर एक बेहतर राय बनाएंगे।

उन्होंने उम्मीद जतायी कि पिछले बार झारखंड मुक्ति मोर्चा के उम्मीदवार को राज्यसभा भेजा गया था, इस बार कांग्रेस को यह मौका मिलना चाहिए।