झारखंड : ट्रेन में महिला को उठी प्रसव पीड़ा, नाजुक थी हालत, डॉक्टरों ने ट्रेन में ही करायी डिलीवरी

गर्भवती महिला इस ट्रेन से नयी दिल्ली से भद्रक तक की यात्रा कर रही थी

रांची: नयी दिल्ली-भुवनेश्वर राजधानी एक्सप्रेस गाड़ी संख्या 22812 में यात्रा कर रही अनीता दास ने चलती ट्रेन में बेटी को जन्म दिया है। शनिवार की सुबह ट्रेन के थर्ड एसी कोच में यात्रा कर रहीं अनीता दास को अचानक प्रसव पीड़ा शुरू हो गयी थी।

ट्रेन जैसे ही गोमो स्टेशन पर पहुंची, रेलवे के अधिकारी और चिकित्सक गर्भवती महिला की सहायता के लिए ट्रेन के अंदर पहुंच गये। इसके बाद ट्रेन में ही महिला का सुरक्षित प्रसव कराया गया।

प्रसव के बाद महिला और नवजात दोनों पूरी तरह सुरक्षित हैं। दोनों की पूरी चिकित्सा जांच के उपरांत आवश्यक सलाह देकर उसी ट्रेन में गंतव्य के लिए रवाना कर दिया गया।

जानकारी के अनुसार, ट्रेन शनिवार की सुबह धनबाद जिले के अंतर्गत पड़नेवाले गोमो स्टेशन पर पहुंची थी। गर्भवती महिला इस ट्रेन से नयी दिल्ली से भद्रक तक की यात्रा कर रही थी। इसी दौरान अचानक उसे प्रसव पीड़ा होने लगी।

महिला के साथ यात्रा कर रहे परिजनों ने इसकी जानकारी ट्रेन में साथ चल रहे रेलवे के कर्मचारियों को दी। इसके बाद कर्मचारियों ने तत्काल इस मामले की जानकारी रेलवे के उच्चाधिकारियों को दी।

रेलवे के अधिकारियों ने निर्देश प्राप्त होने के साथ ही नेताजी सुभाष चंद्र बोस जंक्शन गोमो स्टेशन पर सहायक मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ असीम कुमार एवं उनके अन्य सहायकों की टीम ट्रेन के अंदर पहुंची।

महिला की हालत बेहद खराब थी। तत्काल उसे जरूरी चिकित्सा मुहैया करायी गयी। उन्होंने अपनी देखरेख में महिला का सुरक्षित प्रसव कराया। महिला ने स्वस्थ बच्चे को जन्म दिया। ट्रेन में सुरक्षित प्रसव होने पर परिवार ने रेलवे के प्रति आभार व्यक्त किया।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button