रांची में पांचवें दिन भी HEC में जारी रही हड़ताल

रांची: हैवी इंजीनियरिंग कॉरपोरेशन (एचईसी) लिमिटेड में सोमवार को पांचवे दिन भी कर्मचारियों की हड़ताल जारी रही।

कर्मचारी अपनी विभिन्न मांगों को लेकर अड़े हुए हैं। सोमवार को कर्मचारियों ने एचईसी के मुख्य गेट पर ताला जड़ दिया।

उल्लेखनीय है कि एचईसी कर्मचारी अपने सात माह से लंबित वेतन भुगतान के लिए सोमवार को पांचवे दिन भी हड़ताल पर रहे। सोमवार की सुबह से ही कर्मचारी तीनों प्लांटों में प्रदर्शन कर रहे हैं।

फिलहाल, प्रबंधन की तरफ से कर्मचारियों से वार्ता की पहल नहीं की गयी है। बताया जा रहा है कि पांच दिनों से चल रहे हड़ताल के कारण निगम को लगभग ढाई करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है।

हड़ताल के कारण कार्यादेश प्रभावित हो रहा है। शुक्रवार को कर्मचारियों से किसी तरह की वार्ता किये बगैर निगम प्रबंधन ने एकतरफा नो वर्क नो पे का फरमान जारी कर दिया था।

इस कारण भी कर्मचारियों में गुस्सा चरम पर है। कर्मचारियों का कहना है कि जबतक वेतन भुगतान नहीं होगा, तब तक वे काम पर नहीं लौटेंगे।

उल्लेखनीय है कि एचईसी ने केंद्र सरकार से 870 करोड़ रुपये की सहायता को लेकर प्रस्ताव भेजा है। इसके पहले भी एचईसी प्रस्ताव दे चुका है। हालांकि, भेजे गए प्रस्ताव पर अब तक कोई भी बात नहीं बनी है।

एचईसी प्रबंधन द्वारा तीन दिसंबर को एक अपील पत्र जारी किया गया, जिसमें कर्मियों से काम पर लौटने को कहा गया है।

अगर कर्मी काम पर नहीं लौटे, तो नो वर्क नो पे का सिद्धांत लागू होगा। दूसरी तरफ एचईसी प्रबंधन के अफसरों का कहना है कि उत्पादन ठप होने से एचईसी कंपनी को रोजाना लगभग 50 लाख रुपये का नुकसान हो रहा है।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button