टेक्नोलॉजीबिजनेस

नीलामी के बाद बोले दूरसंचार मंत्री- अक्टूबर तक देश में लॉन्च होगा 5G

नई दिल्ली: केंद्रीय दूरसंचार मंत्री अश्विनी वैष्णव ने Monday को 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी संपन्न होने के बाद कहा है कि देश में High Speed की इंटरनेट सेवा उपलब्ध कराने के लिए 5G Spectrum की नीलामी 7 दिन बाद समाप्त हो गई है।

12 August तक अग्रिम भुगतान लेने, अनुमोदन और आवंटन सहित सभी औपचारिकताएं पूरी की जाएंगी। उन्होंने कहा कि ऐसे में हम August तक देश में 5G लॉन्च कर पाएंगे।

दूरसंचार मंत्री वैष्णव ने Press conference में कहा कि 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी अच्छे तरीके से सफलतापूर्वक संपन्न हुई। नीलामी में कुल 1,50,173 Crore Rupees की बोली कंपनियों ने लगाई।

इसमें कुल 72,098 मेगाहर्ट्ज (MHz) में से 51,236 MHz बिकवाली हुई है। नीलामी में 71 फीसदी स्पेक्ट्रम बिक चुके हैं।

वोडाफोन-आइडिया ने स्पेक्ट्रम के लिए बोलियां लगाई

12 August तक अग्रिम भुगतान लेने, अनुमोदन और आवंटन सहित सभी औपचारिकताएं पूरी की जाएंगी। उन्होंने कहा कि ऐसे में हम अक्टूबर तक देश में 5G Launch कर पाएंगे।

वैष्णव ने बताया कि स्पेक्ट्रम की नीलामी में सबसे ज्यादा बोली Reliance Jio इंफोकॉम ने अपने नाम की है। रिलायंस ने कुल 24,740 मेगाहर्ट्ज (MHz) स्पेक्ट्रम की खरीदारी की है।

रिलायंस ने इसमें 700 MHz, 800 MHz, 1800 MHz, 3300 मेगाहर्ट्ज और 26 गीगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम के लिए बोलियां लगाई।

वैष्णव ने बताया कि Vodafone- Idea लिमिटेड ने इस नीलामी में कुल 6228 मेगाहर्ट्ज (MHz) स्पेक्ट्रम की खरीदारी की है।

वोडाफोन-आइडिया ने इसमें 1800 मेगाहर्ट्ज, 2100 MHz, 2500 मेगाहर्ट्ज, 3300 MHz और 26 गीगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम के लिए बोलियां लगाई है।

उन्होंने बताया कि इसी तरह अडाणी डेटा Network लिमिटेड ने नीलामी में कुल 400 MHz स्पेक्ट्रम की खरीदारी की है।

कंपनियों ने 21,800 Crore रुपये बतौर धरोहर राशि जमा कराई

इसके अलावा भारती Airtel ने नीलामी में कुल 19,867 MHz स्पेक्ट्रम की खरीदारी की। एयरटेल ने इसमें 900 मेगाहर्ट्ज, 1800 मेगाहर्ट्ज, 2100 मेगाहर्ट्ज, 3300 मेगाहर्ट्ज और 26 गीगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम के लिए बोलियां लगाई है। अब सरकार कंपनियों को 15 August से पहले 5G स्पेक्ट्रम का आवंटन करेगी।

दूरसंचार विभाग ने 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी में 4.3 Lakh Coroe रुपये के 72 गीगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम ब्लॉक को नीलामी के लिए रखा था।

इसकी वैलिडिटी 20 साल की होगी। देश में 5G सर्विस आने से Internet की गति 4G के मुकाबले करीब 10 गुना ज्यादा हो जाएगी।

5G स्पेक्ट्रम के लिए चार प्रमुख दूरसंचार Mobile कंपनियों ने 21,800 Crore रुपये बतौर धरोहर राशि जमा कराई है।

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker