हैदराबाद का नाम बदलने के लिए अखाड़ा परिषद ने दिया समर्थन

प्रयागराज : संतों के शीर्ष निकाय अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद (एबीएपी) ने हैदराबाद का नाम परिवर्तन करने के सुझाव का समर्थन किया है।

एबीएपी के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि ने अपनी हालिया हैदराबाद यात्रा के दौरान उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा दिए गए सुझाव का समर्थन किया है और कहा है कि यह संभव है कि नया नाम शहर के भाग्य को भी बदल दे।

योगी आदित्यनाथ ने पिछले सप्ताह हैदराबाद में नगरपालिका चुनावों के लिए प्रचार करते हुए कहा था कि तेलंगाना की राजधानी का नाम बदलकर भाग्यनगर किया जाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि उप्र में हमने भाजपा के सत्ता में आने के बाद इलाहाबाद का नाम प्रयागराज और फैजाबाद का नाम अयोध्या रखा।

महंत नरेंद्र गिरि ने मंगलवार को कहा, एबीएपी ने इस मुद्दे पर योगी आदित्यनाथ को अपना समर्थन दिया है।

मुगलों ने सदियों तक देश पर शासन किया और कई पुराने और पारंपरिक शहरों के नाम बदल दिए। इलाहाबाद और फैजाबाद का नाम पहले ही बदल दिया गया है, हैदराबाद का नाम भी बदला जाना चाहिए।

मुझे लगता है कि ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी सहित किसी को भी हैदराबाद के नाम को भाग्यनगर में बदलने पर कोई आपत्ति नहीं होनी चाहिए।

उन्होंने आगे कहा, हो सकता है कि हैदराबाद का नाम बदलकर भाग्यनगर करने से हैदराबाद का भाग्य भी बदल जाए। हैदराबाद के लोगों को भी नाम में बदलाव का समर्थन करना चाहिए।

बता दें कि हाल ही में एबीएपी ने गैरकानूनी धार्मिक रूपांतरण के खिलाफ एक सख्त कानून लाने के लिए आदित्यनाथ सरकार की प्रशंसा की थी।

लंबे समय से एबीएपी राजनीति से जुड़े मुद्दों विशेष रूप से हिंदुत्व से संबंधित मुद्दों में गहरी दिलचस्पी ले रहा है।

कुछ ही दिन पहले एबीएपी ने अभिनेता मिलिंद सोमन की नग्न तस्वीर की तुलना नागा साधुओं से करने पर अभिनेता पूजा बेदी को जमकर फटकारा था।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button