झारखंड-वनांचल और जेपी आंदोलन के 19 अन्य लोगों के आश्रितों को मिलेगी सहायता

न्यूज़ अरोमा रांची: मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने रविवार को झारखंड-वनांचल और जेपी आंदोलनकारी चिन्हितीकरण आय़ोग द्वारा आंदोलनकारियों की संपुष्ट सूचियों के आवेदकों के कंडिका सुधार करने से संबंधित अधिसूचना प्रारूप को मंजूरी दे दी है।

आय़ोग की पहली, दूसरी, तीसरी, पांचवी, छठी और नौवीं संपुष्ट सूची में उन्नीस आंदोलनकारियों के नाम हैं। इनमें बोकारो जिले के दो, पूर्वी सिंहभूम के चार, गिरिडीह के एक, जामताड़ा के दो, लोहरदगा के तीन, रांची के पांच और सरायकेला-खरसांवा के दो आंदोलनकारी आवेदक शामिल हैं।

झारखंड-वनांचल एवं जेपी आंदोलनकारी चिन्हितीकरण आयोग ने कंडिका में किए गए सुधार प्रतिवेदनों के बाद आंदोलनकारियों की जो सूची संपुष्ट हुई है, उनमें बोकारो के लखिन्दर महतो और लंबोदर महतो, पूर्वी सिंहभूम जिले के पाहाड़ नायक,गौरी शंकर दास, हरिशंकर महतो और एडिएल मिंज, गिरिडीह जिले के रामचरण मंडल, जामताड़ा के मोहम्मद इम्तियाज खां और आंदोलनकारी स्वर्गीय विनोद राय की आश्रित पत्नी हिमानी राय, लोहरदगा के जलेश्वर उरांव, जॉर्ज कुजूर एवं प्रदीप राणा, रांची के दिलीप कोस्मस खेस, मनोज मिंज, नवीन केशरी उर्फ प्रवीण केशरी, आंदोलनकारी स्वर्गीय साबिर अंसारी की आश्रित पत्नी सैफून निशा औऱ परमेश्वर महतो, सरायकेला-खरसांवा जिले के विमल कुमार हाईबुरु और बुधराम उर्फ बुतरू के नाम शामिल हैं।

Back to top button