अजब गज़बभारत

घोड़े ने लेकर ट्रेन में किया सफर, वीडियो वायरल

वह दक्षिण 24 परगना के पूर्व दुर्गानगर इलाके का रहने वाला है

कोलकाता: यात्री ट्रेनों में आपने इंसानों की सवारी देखी होगी लेकिन इंसानों के साथ जानवरों वह भी घोड़े की यात्रा नहीं देखी होगी पर ऐसा हुआ है कोलकाता से सटे दक्षिण 24 परगना जिले के डायमंड हार्बर सेक्शन में यहां लोकल ट्रेन में घोड़े को लेकर सफर करने वाले एक शख्स को आखिरकार रेलवे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उसका नाम गफ्फूर अली मुल्ला बताया गया है।

पूर्व रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी (सीपीआरओ) ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि गफूर को शुक्रवार रात को सोनारपुर आरपीएफ ने गिरफ्तार किया।

वह दक्षिण 24 परगना के पूर्व दुर्गानगर इलाके का रहने वाला है। उस पर रेलवे एक्ट 145/147/155 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

यह घटना गुरुवार रात की बताई जा रही है जब गफूर रात करीब आठ बजे दक्षिण दुर्गानगर स्टेशन से अपने घोड़े के साथ सियालदह- डायमंड हार्बर लोकल ट्रेन में सवार हो गया था।

घोड़े को देख ट्रेन में सवार यात्री भी दंग रह गए थे। बताया जा रहा है कि करीब आधे घंटे की यात्रा के बाद वह अपने घोड़े के साथ नेत्रा स्टेशन पर उतर गया।

वहीं, इससे पहले किसी यात्री ने इसका वीडियो बना लिया और शुक्रवार को इंटरनेट मीडिया पर जब यह वायरल हुआ तो रेलवे अधिकारियों के भी होश उड़ गए। पूर्व रेलवे ने तत्काल इसकी जांच के आदेश दिए।

ट्रेन में जानवरों को ले जाने के लिए रेलवे में अलग नियम हैं। ऐसे में यात्रियों के साथ इस तरह लोकल ट्रेन में जानवर को ले जाना नियमों का सीधा उल्लंघन है।

लोकल ट्रेन में इस तरह घोड़े को लेकर सफर करना सभी के लिए है हैरत वाली बात है। आखिर कैसे यह युवक घोड़े को साथ लेकर स्टेशन पर लोकल ट्रेन में चढ़ गया यह भी अपने आप में कई सवाल खड़े करता है।

बताया जा रहा है कि गफूर दक्षिण 24 परगना के बारूईपुर में आयोजित एक दौड़ में भाग लेने गया था। वहां से लौटते वक्त घर जल्दी पहुंचने के लिए उसने लोकल ट्रेन की सवारी उचित समझी।

लिहाजा वह दक्षिण दुर्गापुर स्टेशन पर लोकल ट्रेन में चढ़ गया। रेलवे अधिकारियों का कहना है कि उस समय उक्त स्टेशन पर कोई आरपीएफ कर्मी मौजूद नहीं थे, इसीलिए वह घोड़े को लेकर ट्रेन में चढ़ने में सफल हो गया।

हालांकि घोड़े को देखकर ट्रेन में सफर कर रहे बाकी यात्रियों ने आपत्ति जताई थी लेकिन बताया जा रहा है कि गफूर अली ने किसी की नहीं सुनीं।