भाजपा के दो आदिवासी मुख्यमंत्री ने सरना धर्म कोड को लागू कराने की कभी कोई कोशिश नहीं की

न्यूज़ अरोमा रांची: झारखण्ड कांग्रेस ने आदिवासी सरना धर्म कोड के प्रस्ताव को केन्द्र सरकार को भेजने पर रामेश्वर उरांव व विधायक दल के नेता आलमगीर आलम के प्रति आभार व्यक्त करते हुए बधाई प्रेषित की है।

गुरुवार को झारखंड कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष केशव महतो कमलेश, मानस सिन्हा, संजय लाल पासवान, प्रवक्ता शमशेर आलम, आलोक कुमार दूबे, लाल किशोरनाथ शाहदेव और राजेश गुप्ता आदि ने बेरमो और दुमका विधानसभा उपचुनाव में महागठबंधन के उम्मीदवारों की जीत के लिए बधाई दी है।

आलम ने कहा कि राज्य गठन हुए 20 वर्ष हो चुके हैं और राज्य में सबसे ज्यादा कार्यकाल भाजपा का रहा है।

लेकिन उसने आदिवासियों के हितों के लिए कोई कार्य नहीं किया और न ही उनके लम्बित मांग सरना धर्म कोड को लागू कराने के लिए कोई प्रयास किया।

जबकि भाजपा के दो आदिवासी मुख्यमंत्री राज्य में शासन कर चुके हैं।

वहीं, दूसरी ओर कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में आदिवासियों के हितों के लिए धरना धर्म कोड लागू करने की बात को सच साबित करते हुए हेमन्त सरकार की अगुवाई में केन्द्र सरकार को अनुशंसा के लिए भेजा गया।

Back to top button