बिहार

केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे ने बंगाल सफारी का किया निरीक्षण, टाइगर को लिया गोद, नाम दिया अग्निवीर

केंद्र सरकार ने जीव जंतुओं के संरक्षण के लिए व्यापक कदम उठाएं हैं, आजादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर लोगों में जागरूकता के साथ केदारनाथ त्रासदी के हुतात्माओं की याद में टाइगर गोद लिया हूं

पटना: केंद्रीय पर्यावरण, वन व जलवायु परिवर्तन तथा उपभोक्ता मामले, खाद्य व सार्वजनिक वितरण राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे (Ashwini Kumar Choubey) ने बंगाल सफारी नॉर्थ बंगाल वाइल्ड एनिमल्स पार्क का बुधवार को निरीक्षण किया।

इस दौरान एक साल के टाइगर (Tiger) को 1 साल के लिए गोद लिया व उसे अग्निवीर नाम दिया।

उन्होंने बताया कि एडॉप्शन प्रोग्राम (Adoption program) के तहत लोगों में जागरूकता के लिए टाइगर को गोद लिया। उन्होंने कहा कि मैंने केदारनाथ धाम में प्रकृति का रौद्र रूप देखा है। प्रकृति के संरक्षण के लिए सभी को जागरूक रहना चाहिए, ताकि इस तरह की घटनाएं न हो।

केंद्र सरकार ने जीव जंतुओं के संरक्षण के लिए व्यापक कदम उठाएं हैं। आजादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर लोगों में जागरूकता के साथ केदारनाथ त्रासदी के हुतात्माओं की याद में टाइगर गोद लिया हूं।

उन्होंने कहा कि पर्यावरण संतुलन में जीव जंतुओं की प्रमुख भूमिका है। उनका संरक्षण जरूरी है। इसके लिए लोगों को नियमित रूप से जागरूक करते रहने की भी जरूरत है।

दास गुप्ता ने कहा चौबे द्वारा टाइगर को गोद लेने से अन्य प्रेरित होंगे

इस मौके पर मौजूदा अधिकारियों को जीव जंतु गोद अभियान (Animal Adoption Campaign) के बारे में जागरूकता अभियान नियमित रूप से चलाने के लिए निर्देशित किया।

केंद्रीय राज्यमंत्री बंगाल सफारी (Bengal Safari) के निरीक्षण के दौरान जीव जंतुओं के रख रखाव से भी अवगत हुए। एडॉप्शन प्रोग्राम के तहत 70 लोगों ने यहां जानवर गोद लिया है।

उन्होंने गोद लिए टाइगर के रखरखाव पर होने वाले खर्च 2 लाख का भुगतान ऑनलाइन के माध्यम से किया। PCCF पश्चिम बंगाल सौमित्रा दास गुप्ता (Soumitra Das Gupta) ने कहा कि केंद्रीय राज्यमंत्री चौबे द्वारा टाइगर को गोद लेने से अन्य प्रेरित होंगे।