पेरिस शांति मंच पर शी चिनफिंग का वीडियो भाषण

बीजिंग: 12 नवम्बर को चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने तीसरे पेरिस शांति मंच पर महामारी का समान मुकाबला कर पुनरुद्धार को आगे बढ़ाएं और शांति की खोज करें नामक वीडियो भाषण दिया।

मौके पर शी चिनफिंग ने जोर दिया कि मानव जाति के सामने आयी चुनौती को ध्यान में रखते हुए विश्व के विभिन्न देशों को एकता मजबूत करना और सहयोग को आगे बढ़ाना चाहिए, जबकि मुठभेड़ और मनमुटावों को जगह नहीं देनी चाहिए। हमें मानव साझे भाग्य वाले समुदाय का सहनिर्माण करना चाहिए और विश्व के विभिन्न देशों की जनता को लाभ पहुंचाना चाहिए।

अपने भाषण में शी ने तीन सुझाव पेश किये। पहला, एकता और आपसी मदद देकर महामारी का समान मुकाबला करें। कोविड-19 अभी भी विश्व में फैल रहा है। हमें विश्व स्वास्थ्य संगठन की केंद्रीय नेतृत्व भूमिका अदा कर अंतर्राष्ट्रीय सहयोग करना चाहिए।

चीन विभिन्न देशों के साथ महामारी की रोकथाम के अनुभव व तकनीक साझा करना चाहता है और आवश्यक चिकित्सा सामग्रियां भी देगा। चीन अपने वचन का पालन करते हुए टीके को वैश्विक सार्वजनिक उत्पाद बनाएगा और अंतर्राष्ट्रीय समुदाय खासतौर पर विकासमान देशों के अचानक सार्वजनिक स्वास्थ्य घटना का निपटारा करने की क्षमता को उन्नत करने में मदद भी देगा।

दूसरा, खुलेपन और सहयोग कर पुनरुद्धार को आगे बढ़ाएं। चीन नये विकास की विचारधारा से नये विकास ढांचे की रचना करेगा और उच्च गुणवत्ता वाले विकास को आगे बढ़ाएगा। चीन ²ढ़ता से सुधार को गहरा कर खुलेपन का विस्तार करेगा। चीन अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के साथ वैश्विक उद्योग श्रृंखला और आपूर्ति श्रृंखला की रक्षा करेगा।

चीन जी-20 के अति गरीबी देशों की ऋण चुकौती को स्थगित करने की पहल को कार्यान्वयन कर सक्रिय रूप से अंतर्राष्ट्रीय सहयोग करेगा।

तीसरा, न्याय को बनाए रखें और शांति बनाए रखें। विभिन्न देशों को शांतिपूर्ण सहअस्तित्व पर कायम रखते हुए अपने विकास अधिकार, विकास रास्ते और मॉडल का सम्मान करना चाहिए, बहुपक्षवाद का समर्थन करना चाहिए, एकतरफावाद, प्रभुत्ववाद और बल-राजनीति का विरोध करना चाहिए, विभिन्न तरीकों के आतंकवाद और उग्रवाद कार्यवाइयों का विरोध करना चाहिए और विश्व न्यायता, शांति व सुरक्षा की रक्षा करनी चाहिए।

अंत में शी चिनफिंग ने जोर दिया कि शांति व विकास युग की विकास प्रवृत्ति है। चीन शांतिपूर्ण विदेशी नीति पर कायम रखते हुए शांतिपूर्ण विकास के रास्ते पर आगे बढ़ता रहेगा। चीन विभिन्न देशों से अंतर्राष्ट्रीय कानूनों और अंतर्राष्ट्रीय संबंधों के बुनियादी नियमावलियों की रक्षा कर भेदभाव छोड़ने की अपील करता है। चीन फ्रांस समेत विभिन्न देशों के साथ संपर्क और समन्वय मजबूत कर अंतर्राष्ट्रीय और क्षेत्रीय सवालों का राजनीतिक हल करने और विश्व शांति व स्थिरता की रक्षा के लिए सक्रिय योगदान प्रदान करने को तत्पर है।

Back to top button