क्या आज चल पाएगा सचिन का बल्ला?

रायपुर: रोड सेफ्टी वल्र्ड सीरीज के अपने अगले मैच में इंडिया लेजेंड्स का सामना आज यहां शहीद वीर नारायण सिंह इंटरनेशनल स्टेडियम में दक्षिण अफ्रीका लेजेंड्स से होगा।

यह मुकाबला जीतकर सचिन तेंदुलकर की कप्तानी वाली इंडिया लेजेंड्स टीम सेमीफाइनल में पहुंचना चाहेगी लेकिन इंडिया लेजेंड्स की चिंता यह है कि उसके कई स्टार बल्लेबाजों के बल्ले चुप हैं। कप्तान सचिन भी उनमें से एक हैं।

इस बीच, दक्षिण अफ्रीका लेजेंड्स गुरुवार को अपने तीसरे मुकाबले में इंग्लैंड को हराकर अच्छी स्थिति में पहुंच गई है और अब वह भी एक और जीत के साथ नॉकआउट में जगह पक्की करना चाहेगी।

इंडिया लेजेंड्स के खाते में चार मैचों से 12 अंक हैं और वह अंक तालिका में दूसरे स्थान पर है। श्रीलंका की टीम 16 अंकों के साथ पहले स्थान पर है। दक्षिण अफ्रीकी टीम आठ अंकों के साथ तीसरे स्थान पर है।

अब भारत की टीम अपने प्रदर्शन में सुधार करते हुए अपनी स्थिति मजबूत करना चाहेगी। इंग्लैंड के खिलाफ हालांकि भारतीय टीम का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा था और उसे टूर्नामेंट में पहली हार मिली थी।

भारत ने इरफान पठान के नाबाद 61 रनों और मनप्रीत गोनी के नाबाद 35 रनों की मदद से लक्ष्य को हासिल करने की कोशिश की थी लेकिन उसे अंत में छह रनों से हार का सामना करना पड़ा था।

भारतीय कप्तान तेंदुलकर बल्ले के साथ अपना जलवा नहीं दिखा पा रहे हैं। वह भी फार्म में वापसी चाहेंगे। अब तक टूर्नामेंट में उनका व्यक्तिगत सर्वोच्च योग नाबाद 33 रन रहा है, जो उन्होंने बांग्लादेश लेजेंड्स के खिलाफ बनाया था।

भारतीय टीम के अन्य बल्लेबाज, जो संघर्ष कर रहे हैं,उनमें युवराज सिंह, मोहम्मद कैफ और यूसुफ पठान हैं। ये तीनों भी बल्ले के साथ अपनी मौजूदगी दिखाना चाहेंगे।

भारत के लिए गेंदबाजी में सबसे बड़ी चिंता स्पिनर प्रज्ञान ओझा हैं, जो इंग्लैंड के खिलाफ काफी महंगे साबित हुए थे। ओझा ने चार ओवर में 43 रन दिए थे और एक भी विकेट नहीं हासिल कर सके थे।

ओझा का फार्म खुद उन्हें भी परेशान कर रहा होगा, क्योंकि इसी विकेट पर मोंटी पनेसर और थांडी साबालाला जैसे स्पिनर अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं।

दक्षिण अफ्रीकी टीम की बात की जाए तो जोंटी रोंड्स की कप्तानी वाली यह टीम ऊंचे मनोबल के साथ भारत से भिड़ेगी। इस टीम ने इंग्लैंड के जिस आसानी से हराया था और उससे लगता है कि वह भारत को कड़ी टक्कर देगी।

दक्षिण अफ्रीकी टीम ने न सिर्फ बल्ले के साथ अपना फार्म वापस पाया है बल्कि गेंद के साथ भी वह प्रभावशाली दिखाई दे रही है।

टीमें इस प्रकार है

इंडिया लेजेंड्स : सचिन तेंदुलकर (कप्तान), वीरेंद्र सहवाग, मोहम्मद कैफ, एस बद्रीनाथ, युवराज सिंह, यूसुफ पठान, इरफान पठान, मुनाफ पटेल, मनप्रीत सिंह गोनी, प्रज्ञान ओझा, आर. विनय कुमार, नोएल डेविड, नमन ओझा।

दक्षिण अफ्रीका लेजेंड्स : जोंटी रोड्स (कप्तान), अल्वारो पीटरसन, लॉयड नॉरिस जोन्स, लूट्स बोसमैन, गार्नेट क्रुगर, मखाया एंटिनी, मोंडे जोंडेकी, नैंटी हेवर्ड, रोजर टेलीमाकस, थांडी साबालाला, जस्टिन केंप, जेंडर डी ब्रुइन, एंड्रयू पुटीक

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button