अफगानिस्तान में महिलाओं के ब्यूटी सैलून पर प्र‎तिबंध की बताई वजह

News Aroma Media

अफगानिस्तान: Afghanistan में महिलाओं पर लगातार शोषण बढ़ते जा रहें हैं अब यहां की सरकार ने एक नया फरमान जारी किया है दरअसल अब अफगानिस्तान के तालिबान (Taliban) ने एक बार फिर नई फरमान जारी की है जहां महिला रोजगार (Female Employment) के लिए बचे कुछ रास्तों पर यहां की सरकार ने प्रतिबंध लगा दिया है।

तालिबान ने महिलाओं द्वारा चलाए जाने वाले ब्यूटी सैलून (Beauty Parlor) को बंद करने का फरमान सुनाया है।

अफगानिस्तान में महिलाओं के ब्यूटी सैलून पर प्र‎तिबंध की बताई वजह The reason given for the ban on women's beauty salons in Afghanistan

तालिबान ने महिलाओं के ब्यूटी सैलून पर प्र‎तिबंध की बताई वजह

अब Afghanistan के Taliban ने महिलाओं के ब्यूटी सैलून (Beauty Parlor) पर प्र‎तिबंध की वजह बताई है।

उसने कहा है कि ऐसा इसलिए किया गया है क्योंकि ये ऐसी सेवाएं देते हैं जो इस्लाम में हराम हैं।

साथ ही विवाह के दौरान दूल्हे के परिवार के लिए यह आर्थिक परेशानी का कारण भी बनते हैं।

Taliban का यह बयान ऐसे वक्त आया है जब कुछ दिन पहले ही उसने इस बात की पुष्टि की थी उसने देश में इस तरह के सभी सैलून को अपना करोबार समेटने और दुकान बंद करने के लिए एक महीने का वक्त दिया है।

अफगानिस्तान में महिलाओं के ब्यूटी सैलून पर प्र‎तिबंध की बताई वजह The reason given for the ban on women's beauty salons in Afghanistan

है इस्लाम के खिलाफ

गुरुवार को एक Video Clip में तालिबान शासित धार्मिक मामलों के वर्चु एंड वाइस मंत्रालय (Ministry of Virtue and Vice) के प्रवक्ता सादिक अकिफ महजर ने इस बारे में जानकारी दी।

उन्होंने ऐसे कई सैलून को सूचीबद्ध किया और कहा कि भवों को आकार देना, मेकअप (Makeup) का इस्तेमाल करना, किसी महिला के प्राकृतिक बालों को बढ़ाने के लिए दूसरों के बाल का इस्तेमाल करना इस्लाम (Islam) के खिलाफ है।

अफगानिस्तान में महिलाओं के ब्यूटी सैलून पर प्र‎तिबंध की बताई वजह The reason given for the ban on women's beauty salons in Afghanistan

ब्यूटी सैलून दूल्हे के परिवार के लिए आर्थिक परेशानी का कारण

उन्होंने कहा कि ब्यूटी सैलून विवाह के दौरान दूल्हे के परिवार के लिए आर्थिक परेशानी का कारण बनते हैं क्योंकि यहां दुल्हन के मेकअप (Makeup) का खर्चा दूल्हे के परिवार को उठाना होता है।

तालिबान के इस फरमान पर अंतरराष्ट्रीय अधिकारियों (International Authorities) ने महिला उद्यमियों पर इसके प्रभाव को लेकर चिंता जताई है।

अफगान महिलाओं एवं लड़कियों की आजादी और उनके अधिकारों पर पाबंदी लगाने वाला यह हालिया फैसला है।

इससे पहले तालिबान महिलाओं एवं लड़कियों की शिक्षा, सार्वजनिक स्थान पर जाने और रोजगार के अधिकतर तरीकों पर पाबंदी लगा चुका है।

Share This Article