हेल्थ

आएं बैंगन… जी हां डायबिटीज और कोलेस्ट्रॉल के रोगियों के लिए वरदान है बैंगन

आजकल तो हमारा खाना इतना ज्यादा अनहेल्दी हो गया है कि बचपन से ही हाई कोलेस्ट्रॉल-डायबिटीज (Cholesterol-Diabetes) के मामले दिखने लगे हैं।

Brinjal Benefits : भाग-दौड़ से भरी जिंदगी में हमने अपनी सेहत का ख्याल रखना ही छोड़ दिया है। हम रोजाना ना जाने कितनी सारी अनहेल्दी (Unhealthy) चीज खाते हैं।

आजकल तो हमारा खाना इतना ज्यादा अनहेल्दी हो गया है कि बचपन से ही हाई कोलेस्ट्रॉल-डायबिटीज (Cholesterol-Diabetes)  के मामले दिखने लगे हैं।

हाई कोलेस्ट्रॉल की वजह से नसों में प्लाक जम जाता है। Diabetes में खून का ग्लूकोज (Glucose) बहुत ज्यादा बढ़ जाता है। तो अगर टेस्ट रिपोर्ट में आपको भी ये बीमारी निकल आई है तो आज ही बैंगन (Brinjal) का सेवन करना शुरू करें।

भूनकर पकाएं बैंगन

हाई कोलेस्ट्रॉल और डायबिटीज को खत्म करने के लिए बैंगन का सेवन कर सकते हैं। इसे कोयले या आंच पर भूनकर खाना काफी फायदेमंद होता है।

इससे बैंगन की ताकत दोगुना हो जाती है क्योंकि इसमें किसी भी तरह का नुकसानदायक इंग्रीडिएंट नहीं होता। एलर्जी (Allergy) के मरीजों को इसका सेवन नहीं करना चाहिए।

कोलेस्ट्रॉल कम करने में सहायक

भुना हुआ बैंगन खाकर LDL कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड को कम किया जा सकता है।

शोध में जब शोधकर्ताओं ने चूहों को रोजाना बैंगन का एक्सट्रैक्ट दिया तो उनके गंदे कोलेस्ट्रॉल में कमी देखी गई। इसलिए इंसानों को भी इससे फायदा मिल सकता है।

डायबिटीज के मरीजों के लिए लाभदायक

डायबिटीज के मरीजों को बैंगन का सेवन जरूर करना चाहिए। रिसर्च के मुताबिक इसका फाइबर शुगर लेवल को कंट्रोल में रखता है।

यह पचे बिना आपके पाचन तंत्र से निकल जाता है और खाना में मौजूद ग्लूकोज को काबू से बाहर नहीं जाने देता।

वजन कम करने में सहायक

जो लोग अपने थुलथुलेपन से परेशान हैं और वजन कम (Weight Loss) करना चाहते हैं। वो बैंगन जरूर खाएं। इसे खाने के बाद पेट देर तक भरा रहता है और भूख शांत रहती है।

इस दौरान कैलोरी इनटेक को आसानी से काबू किया जा सकता है और वजन कम कर सकते हैं।

शरीर की सेल्स जब असामान्य तरीके से बढ़ने लगती हैं तो कैंसर बन जाता है। बैंगन खाने से इन सेल्स को मारा जा सकता है। ऐसे फूड्स के अंदर SRGs कंपाउंड होता है जो कैंसर सेल्स का खात्मा कर सकता है।

अमूमन सारी बीमारियों के पीछे इंफ्लामेशन और एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं। इनसे बचने के लिए एंटीऑक्सीडेंट्स की जरूरत पड़ती है। बैंगन खाने से ये कंपाउंड भारी तादाद में मिलते हैं।

Disclaimer: यहां दी गई जानकारी केवल एक सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह जानकारी किसी भी विशेषज्ञ द्वारा नहीं दी गई है। इससे संबंधित कोई भी कदम उठाने से पूर्व विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें।

Back to top button
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker