स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता का रिश्तेदार बताकर ठगे 30 हजार

धनबाद: माइक्रोबायोलॉजी विभाग में ट्रू-नेट लैब में कार्यरत पंकज गुप्ता पर नौकरी लगाने के एवज में पैसे लेने का आरोप लगा है। वह भी सिविल सर्जन कार्यालय में।

इस संदर्भ में शिकायतकर्ता ने मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य और माइक्रोबायोलॉजी विभाग के एचओडी डॉ सुजीत तिवारी से लिखित शिकायत की है।

पुटकी कपुरिया निवासी रंजीत कुमार ने शिकायत ने बताया कि एसएनएमएमसीएच के माइक्रोबायोलॉजी विभाग में ट्रू-नेट लैब में कार्यरत पंकज गुप्ता ने सिविल सर्जन कार्यालय में नौकरी लगाने के नाम पर 2 लाख रूपए की मांग की।

पंकज ने दावा किया कि झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता उसके रिश्तेदार हैं। पूर्व राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू से भी अच्छी पहचान है। उसने 30 हजार रुपए एडवांस मांगे और शेष 1.70 हजार रुपए काम होने के बाद देने को कहा।

दोस्त से 10 हजार रुपए उधार लेकर पंकज गुप्ता को दिया था, लेकिन अब तक नौकरी नहीं लगाई। जब भी पैसे मांगे जाते हैं तो घर जाकर मारने-पीटने की धमकी भी देता है। पंकज गुप्ता की बहाली आउटसोर्स से हुई है।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button