माइक्रो प्लानिंग कर लें, समयबद्ध तरीके से आयोजन करें: उपायुक्त

न्यूज़ अरोमा रांची: टीबी हारेगा देश जीतेगा अभियान और नवजात शिशु सप्ताह का रविवार को उपायुक्त छवि रंजन ने जिला स्तरीय इ-लॉन्च समारोह में ऑनलाइन शुभारंभ किया। टीबी हारेगा देश जीतेगा अभियान और नवजात शिशु सप्ताह का शुभारंभ किया।

उपायुक्त छवि रंजन ने अभियान को लेकर पदाधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। जिला स्तरीय लांच समारोह में सिविल सर्जन रांची, एसीएमओ, डीआरसीएचओ, डीपीएम, सभी एमओआईसी, सीडीपीओ डीपीएमयू, टीबी स्टाफ डीपीएमयू ऑनलाइन जुड़े थे।

माइक्रो प्लानिंग कर लें, समयबद्ध तरीके से आयोजन करें: उपायुक्त

उपायुक्त छवि रंजन ने कहा कि नवजात शिशु सप्ताह और टीबी हारेगा देश जीतेगा अभियान को लेकर माइक्रो प्लानिंग कर लें, समयबद्ध और चरणबद्ध तरीके से आयोजन करें।

उपायुक्त ने कहा कि एमओआईसी एक दूसरे से अपने अच्छे अनुभव साझा करें, सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर डेली एक्टिविटीज शेयर करें। एसीएमओ को उपायुक्त ने फॉर्मेट बनाकर सभी एमओआईसी को उपलब्ध कराने का निर्देश दिया, ताकि कितने नए मरीज मिले हैं।

इसकी सप्ताहिक रिपोर्ट दी जा सके। उपायुक्त ने कोविड-19 संक्रमण के बढ़ने की आशंका के मद्देनजर पदाधिकारियों को योजनाबद्ध तरीके से अभियान चलाने का निर्देश दिया।

15 से 21 नवंबर तक चलेगा नवजात शिशु सप्ताह

नवजातों की मृत्यु दर में कमी लाई जा सके। इसे लेकर एक सप्ताह तक नवजात शिशु सप्ताह का आयोजन किया जा रहा है, इसके तहत निम्न कार्य किये जायेंगे।

इस दौरान सदर अस्पताल रांची में प्राधिकृत कॉर्नर बनाकर नवजात शिशु की देखभाल के लिए प्रचार प्रसार एवं जागरूकता फैलाया जाएगा। साथ ही जिला अस्पताल, सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र एवं स्वास्थ्य उप केंद्रों में नवजात की स्क्रीनिंग की जाएगी। एक्सक्लूसिव ब्रेस्टफीडिंग, रूटीन इम्यूनाइजेशन, हाई रिस्क साइन इन चिल्ड्रन की पहचान के लिए लोगों को प्रोत्साहित किया जाएगा।

स्पेशल सिक न्यू बोर्न केयर,एसएनसीयू से 1 माह तक के डिस्चार्ज बच्चों का मोबाइल के द्वारा फॉलोअप किया जाएगा। गर्भवती महिला एवं नवजात शिशु के लिए सभी स्तर पर प्रसव गृह एवं वार्ड में सभी आवश्यक चिकित्सकीय व्यवस्था सुदृढ़ की जाएगी।

नवजात शिशु सप्ताह के अंतर्गत संस्थागत प्रसव से हुए शिशुओं की स्क्रीनिंग की जाएगी। नवजात एवं गर्भवती को बिना धुंए के चूल्हा के उपयोग के लिए जागरूक किया जाएगा।

सुदूर एवं दुर्गम क्षेत्र में निवास करने वाले झुग्गी झोपड़ी, विकलांग, असंगठित मजदूर एवं वैसी जगह जहां बच्चियों पर ध्यान नहीं दिया जाता है, इस कार्यक्रम के तहत उन्हें प्राथमिकता दी जाएगी। कोविड-19 के सभी दिशानिर्देशों का पूरे सप्ताह के दौरान आवश्यक रूप से पालन किया जाएगा।

15 नवंबर से 14 जनवरी तक टीबी हारेगा देश जीतेगा अभियान चलाया जाना है, इसके तहत एक्टिव टीबी केस खोजने के लिए घर-घर स्क्रीनिंग की जाएगी। सभी टीबी मरीजों की कोविड-19 जांच एवं सभी कोविड-19 मरीजों की टीबी जांच की जाएगी।

स्क्रीनिंग के बाद संभावित मरीजों को जांच के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र तक रेफर किया जाएगा। सभी नए टीबी मरीजों का समय इलाज प्रारंभ करते हुए निश्चय पोर्टल के माध्यम से प्रोत्साहन राशि उपलब्ध कराया जाएगा।

Back to top button