हर प्रखंड में खुलेगा एकलव्य और केंद्रीय विद्यालय: अर्जुन मुंडा

सरकार का प्रयास है कि ज्ञान से कोई वंचित नहीं रहे और हर घर तक शिक्षा पहुंचे, इस उद्देश्य से सभी प्रखंडों में एकलव्य विद्यालयों की स्थापना की जा रही है

खूंटी: आदिवासी कल्याण और जनजातीय मामलों के केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने कहा कि भगवान बिरसा मुंडा ने अस्मिता और अस्तित्व को संजोय रखने के लिए जो लड़ाई लड़ी औऱ हमें आजादी दिलाई, उसी आजादी का अमृत महोत्सव पूरे देश में मनाया जा रहा।

उसी कड़ी में आज भगवान बिरसा मुंडा की इस पावन धरती वीरभूमि खूंटी में शिक्षा की नई ऊर्जा और क्रांतिकारी उद्घोष के निमित एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालय का शिलान्यास किया गया। उन्होंने कहा कि कोविड के थर्ड वेब से लड़ने के लिए खूंटी लोकसभा के अस्पतालों को ऑक्सिजन कंसेंट्रेटर का वितरण किया जा रहा है।

केंद्रीय मंत्री सोमवार को खूंटी प्रखंड के रेवा गांव लोगसभा के पूर्व उपाध्यक्ष पद्मभूषण कड़िया मुंडा, खूंटी के विधायक नीलकंठ सिंह मुंडा और तोरपा के विधायक कोचे मुंडा के साथ एकलव्य आदर्श उच्च विद्यालय का शिलान्यास करने के बाद लोगों को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि सरकार का प्रयास है कि ज्ञान से कोई वंचित नहीं रहे और हर घर तक शिक्षा पहुंचे, इस उद्देश्य से सभी प्रखंडों में एकलव्य विद्यालयों की स्थापना की जा रही है।

उन्होंने कहा कि वीरों की भूति खूंटी को शिक्षा भूमि बनाने के दिशा में जो कदम केंद्रीय मंत्रालय ने उठाया है, वह हमारे क्षेत्र में शिक्षा के दृष्टिकोण से बहुत ही महत्वाकांक्षी योजना है।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि चूंकि खूंटी खेल की भी भूमि है, इसलिए इस विद्यालय में पढ़ने वाले बच्चों को उनकी रुचि के आधार पर चार प्रकार खेलों से जोड़ा जाएगा, ताकि भविष्य में ओलिंपिक सहित अन्य खेलों में भी खूंटी का दबदबा बरकरार रहें।

अर्जुन मुंडा ने कहा कि खूंटी में मेडिकल कॉलेज खोलने की स्वीकृति केंद्र सरकार ने दे दी है, पर राज्य सरकार भूमि उपलब्ध नहीं करा रही है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की योजना है कि सभी प्रखंडों में एकलव्य और केंद्रीय विद्यालय की स्थापना हो।

मंत्री ने कहा कि केंद्री सरकार देश के हर रानरिक का मेडिकल डाटा बेस तेयार कर रही है, ताकि किसी को चिकित्सा सुविधा पाने में कोई परेशानी न हो उन्होंने कहा कि डाटा बेस तैयार हो जाने के बाद किसी भी अस्पताल में नंबर डालते ही उस व्यक्ति का पूरा चिकित्सा इतिहास आ जायेगा और पता चल जायेगा कि पहले कौन सी बीमारी थी और क्या दवा चल रही है।

उन्होंने कहा कि जिस दिन सभी लोगों को चिकित्सा सुविध उपलब्ध हो जायेगी, उसी दिन भगवान बिरसा मुंडा का सपना साकार होगा।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button