BSF का स्थापना दिवस पांच को, गृहमंत्री अमित शाह करेंगे शिरकत

जैसलमेर: सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) का स्थापना दिवस पहली बार दिल्ली से बाहर पांच दिसंबर को पश्चिमी सरहद जैसलमेर जिले में आयोजित किया जा रहा है।

बीएसएफ के इस सबसे बड़े खास कार्यक्रम को भारत-पाकिस्तान सीमा के नजदीक ऐतिहासिक बनाने के लिए विशेष तैयारियां चल रही हैं।

इसी को लेकर बीएसएफ चंडीगढ़ कमांड सेंटर के एडीजी एनएस जामवाल जैसलमेर के डाबला स्टेट सेक्टर हेड क्वार्टर दक्षिण पहुंचे और पत्रकारों को संबोधित किया।

उन्होंने बताया कि इस आयोजन में गृहमंत्री अमित शाह, केन्द्रीय सशस्त्र बल और सीमा सुरक्षा बल के वरिष्ठ अधिकारी तथा अन्य गणमान्य लोग हिस्सा लेगे।

इस बार के कार्यक्रम में बांग्लादेश से एक डेलिगेशन भी मेहमान के रूप में शरीक होगा। बॉर्डर गार्ड बांग्लादेश के डायरेक्टर जनरल सपत्नीक डेलिगेशन का हिस्सा होंगे।

एडीजी जामवाल ने बताया कि जैसलमेर के पूनम स्टेडियम में आगामी पांच दिसंबर को बीएसएफ के स्थापना दिवस का भव्य आयोजन किया जा रहा है।

इस संबंध में विभिन्न कार्यक्रमों में साहसिक करतब परेड इत्यादि का अभ्यास प्रतिदिन किया जा रहा है। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि गृहमंत्री अमित शाह शिरकत करेंगे।

वह जैसलमेर बाड़मेर से लगती भारत पाकिस्तान सीमा पर विभिन्न चौकियों का निरीक्षण करेंगे एवं सीमा सुरक्षा बल की वर्तमान स्थिति का जायजा लेंगे।

उसके बाद जैसलमेर मुख्यालय स्थित पूनम स्टेडियम में आयोजित होने वाले स्थापना दिवस के भव्य कार्यक्रम में परेड की सलामी लेंगे। सीमा सुरक्षा बल के कार्यक्रम को लेकर जैसलमेर वासियों में जबरदस्त उत्साह दिखाई दे रहा है।

इस परेड में विशेष टुकडियां पैदल मार्चिंग दस्ता, पैदल महिला मार्चिंग दस्ता, कैमल दस्ता, घुडसवार दस्ता और रॉयल सीमा सुरक्षा बल बैण्ड शामिल होंगे।

इसके अलावा डॉग शो, अस्त्र शस्त्र हैंडलिंग प्रदर्शन, विशिष्ट दल द्वारा पैरा एडवेंचर प्रदर्शन एवं सीमा भवानी (महिला) एवं जांबाज दल द्वारा मोटरसाइकिल के साथ प्रदर्शन कर रोचक बनाएंगे ।

इस परेड का फाइनल पूर्वाभ्यास तीन दिसंबर, 2021 को सुबह साढे आठ बजे से शुरू होग। उन्होंने जैसलमेरवासियों से अधिक से अधिक संख्या में समय से पहुंचकर इस आयोजन का साक्षी बन कर इसे सफल एवं यादगार बनाने की अपील की।

साथ ही उन्होंने कोरोना प्रोटोकॉल अपनाने और सुरक्षा कारणो को ध्यान मे रखते आयोजन में किसी भी प्रकार के बैग, पावर बैंक एंव प्लास्टिक बैग अपने साथ न लाने की भी अपील की।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button