झारखंड

बोकारो : आंगनबाड़ी केंद्र में टीकाकरण के बाद बच्चे की मौत, हंगामा, एएनएम पर कार्रवाई की मांग

बोकारो : आंगनबाड़ी केंद्र में टीकाकरण के बाद तीन माह के बच्चे की मौत के बाद जमकर हंगामा हुआ।

घटना जिले के बेरमो प्रखंड स्थित गोविंदपुर ई पंचायत के आंगनबाड़ी केंद्र की है।

यहां टीकाकरण के बाद तीन माह के बच्चे की मौत से नाराज महिलाएं रविवार को एएनएम पर कार्रवाई की मांग को लेकर बोकारो थर्मल थाना के समक्ष विरोध-प्रर्दशन के बाद धरने पर बैठ गयीं।

बता दें कि यह मामला 10 जुलाई का है, जब मासिक टीकाकरण गोविंदपुर ई पंचायत के ऊपर टोला आंगनबाड़ी केंद्र संख्या 239 में 0-6 माह के बच्चों का टीकाकरण किया जा रहा था।

इसमें संतोष करमाली और उषा देवी के तीन माह के बच्चे का टीकाकरण हुआ था।

महिलाओं का आरोप है कि एएनएम की लापरवाही के कारण तीन माह के बच्चे की मौत हो गयी। द

स मिनट के अंतराल में बच्चे को तीन टीके और दो ड्रॉप देकर एएनएम केंद्र से चली गयीं। टीकाकरण करने के उपरांत बच्चे की हालत खराब हो गयी।

उसे आनन-फानन में स्थानीय डीवीसी अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहां पर जांच के बाद डॉक्टरों ने बच्चे को मृत घोषित कर दिया।

विरोध-प्रदर्शन कर रहीं महिलाओं का कहना था कि न्याय नहीं मिला और एएनएम की गिरफ्तारी नहीं हुई, तो कब्र से बच्चे का शव निकालकर थाना गेट पर धरना में बैठ जायेंगे। पुलिस इस मामले में शिथिलता बरत रही है।

जांच के लिए पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम

टीकाकरण के बाद बच्चे की मौत के 24 घंटे के बाद जिला प्रशासन के आदेश पर बेरमो के स्वास्थ्य विभाग की टीम जांच करने बोकारो थर्मल पहुंची।

जांच टीम ने मृत बच्चे के दादी, मां सहित आंगनबांडी केंद्र की सेविका-सहायिका का बयान कलमबद्ध किया। इसकी पूरी जानकारी डब्ल्यूएचओ को भेजी गयी।

इसके पूर्व बोकारो थर्मल पुलिस ने भी मृतक की मां उषा देवी और पिता संतोष करमाली का बयान दर्ज किया गया। इस मामले में कांड संख्या 60/2021 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

इंस्पेक्टर सह थाना प्रभारी रविंद्र कुमार सिंह ने बताया कि पूरे मामले की गंभीरता से जांच की जा रही है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के बाद कार्रवाई की जायेगी।

विरोध-प्रर्दशन में मुख्य रूप से रीना देवी, सरिता देवी, बंसती देवी, मंजू देवी, गुडिया देवी सहित कई महिलाएं शामिल थीं।

Back to top button