गोड्डा राजमहल परियोजना क्षेत्र की निगहबानी अब तीसरी आंख से

गोड्डा: जिले में कार्यरत ईसीएल की राजमहल परियोजना के सीएचपी स्थित प्रशासनिक भवन में बुधवार को क्षेत्रीय नियंत्रण कक्ष का शुभारंभ राजमहल परियोजना के महाप्रबंधक प्रभारी डीके नायक द्वारा किया गया।

मौकेपर महाप्रबंधक ने अपने संबोधन में कहा कि लंबे समय से परियोजना में लाईव सरवायलेंस की जरूरत महसूस की जा रही थी जिसे आईटी सेल के माध्यम से पूरा किया जा रहा है।

क्षेत्र में निगहबानी के लिए क्षेत्रीय कंट्रोल रूम 500 मीटर से 1 किलोमीटर तक के क्षेत्र को पूरी तरह देख सकेगा तथा किसी भी संदिग्ध गतिविधि पर तत्क्षण कार्रवाई की जा सकेगी।

इसके अलावा उन्होंने क्षेत्रीय भंडार कक्ष में लेजर आधारित फेंसिंग सिस्टम का भी शुभारंभ किया।

इस तकनीक के माध्यम से एक खास क्षेत्र के भीतर प्रवेश करने पर लेजर किरणों के माध्यम से सुरक्षा में लगे कर्मियों तक सूचना तत्क्षण दी जा सकेगी।

इन दोनों आईटी एवं इंटरनेट आधारित आधुनिक सिस्टम से परियोजना क्षेत्र में बढ़ती चोरी एवं आपराधिक घटनाओं पर लगाम लगाया जा सकेगा।

इस प्रकार की सुविधा पूर्व से नहीं रहने से किसी घटना के पश्चात संलिप्त अपराधियों की पहचान नहीं हो पाती थी,जिसे अब आसानी से किया जा सकेगा शुभारंभ के मौके पर क्षेत्रीय अभियंता (ई एन टी) मलयज, क्षेत्रीय विद्युत एवं यांत्रिक अभियंता केडी राय, क्षेत्रीय सामग्री प्रबंधन महाप्रबंधक रवि कुमार, सहायक समादेष्टा कुमार पुरुषोत्तम, असैनिक विभाग के शिवम गौरव एवं मारूफ हुसैन, नरेंद्र उपाध्याय, वाईएस टोपनो सहित कई अधिकारी एवं कर्मी उपस्थित थे।

Back to top button